comScore

बिहार : नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व शुरू

October 31st, 2019 20:00 IST
 बिहार : नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व शुरू

हाईलाइट

  • बिहार : नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व शुरू

पटना, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)। राजधानी पटना सहित बिहार के सभी शहरी और ग्रामीण इलाकों में नहाय-खाय के साथ चार दिनों तक चलने वाला सूर्य की आराधना का महापर्व छठ शुरू हो गया।

पटना में गंगा तटों पर गुरुवार की सुबह से ही छठव्रतियों की भीड़ उमड़ने लगी। पहले दिन छठ व्रत करने वाले पुरुष और महिला अंत:करण की शुद्धि के लिए नदियों, तालाबों और विभिन्न जलाशयों में स्नान करने के बाद अरवा चावल, चने की दाल और लौकी (कद्दू/घीया) की सब्जी का प्रसाद ग्रहण किया।

परिवार की समृद्धि और कष्ट निराकरण के लिए इस महापर्व के दूसरे दिन (शुक्रवार को) श्रद्धालु दिनभर उपवास कर सूर्यास्त होने पर खरना करेंगे। यानी श्रद्धालु भगवान भास्कर की पूजा करेंगे और चावल, दूध और गुड़ से बनी खीर व रोटी का प्रसाद ग्रहण करेंगे। आसपास के लोग भी व्रती के घर पहुंचते हैं और प्रसाद ग्रहण करते हैं।

खरना के साथ ही 36 घंटे का निर्जला व्रत शुरू हो जाएगा। पर्व के तीासरे दिन (शनिवार को) छठव्रती सूर्यास्त के समय नदी, तालाबों या किसी अन्य जलाशय पर पहुंचकर अस्ताचलगामी सूर्य को अघ्र्य अर्पित करेंगे। पर्व के चौथे दिन (रविवार को) की सुबह उदीयमान सूर्य को अघ्र्य देने के बाद व्रत समाप्त हो जाएगा। इसके बाद व्रती अन्न-जल ग्रहण यानी पारण करेंगे।

इसी क्रम में गुरुवार को जन अधिकार पार्टी (जाप) के संस्थापक और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पटना में व्रतियों के बीच छठ पूजा की सामग्री बांटी। पूर्व सांसद शुक्रवार को भी पटना के विभिन्न हिस्सों में पूजा सामग्री का वितरण करेंगे।

छठ को लेकर पटना के गंगा के घाटों पर सुरक्षा के भी पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। इसके तहत गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कई घाटों का निरीक्षण किया और अधिकारियों को कमियां दूर करने के निर्देश दिए।

पटना के हर घाट पर गोताखोरों और एनडीआरएफ की टीम मौजूद रहेगी। सभी घाटों के आसापास रोशनी की पूरी व्यवस्था की गई है। इस दौरान गंगा में मोटरबोटों से पुलिस पेट्रोलिंग का भी इंतजाम किया गया है। गंगा नदी में निजी नाव चलाने पर फिलहाल रोक लगा दी गई है और छठ घाटों पर पटाखे जलाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

कमेंट करें
LgK7z