comScore

पाक पर फिर सर्जिकल स्ट्राइक के सवाल पर बोले बिपिन रावत- इसे सरप्राइज ही रहने दीजिए

September 23rd, 2018 23:41 IST
पाक पर फिर सर्जिकल स्ट्राइक के सवाल पर बोले बिपिन रावत- इसे सरप्राइज ही रहने दीजिए

हाईलाइट

  • भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयॉर्क में बातचीत रद्द होने के बाद बयानबाजियों का दौर शुरू हो गया है।
  • आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया है।
  • बिपिन रावत ने कहा कि आतंकवाद और शांति वार्ता एक साथ संभव नहीं है।

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयॉर्क में बातचीत रद्द होने के बाद बयानबाजियों का दौर शुरू हो गया है। आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया है। बिपिन रावत ने कहा कि आतंकवाद और शांति वार्ता एक साथ संभव नहीं है। वहीं आतंकी साजिशों के खिलाफ सेना की सर्जिकल स्ट्राइक के सवाल पर जनरल रावत ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक हमेशा सरप्राइज की तरह ही होती है और इसे वैसा ही रहने देना चाहिए।

बिपिन रावत ने कहा बातचीत नहीं हुई क्योंकि हमारी सरकार की पॉलिसी है कि वार्ता और आतंकवाद एक साथ नहीं हो सकते। हमने पाकिस्तान को सीधा मैसेज दिया है। सरकार की पॉलिसी स्पष्ट है कि पाकिस्तान को अपने कार्यों से साबित करना होगा कि वे आतंक को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हमेशा कहता रहा है कि वह अपनी जमीन का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होने देगा लेकिन हम देख सकते हैं कि आतंकी गतिविधियां और बॉर्डर के उस पार से आतंकियों का आना जारी है। रावत ने कहा, केवल सरकार ये तय करेगी कि क्या ऐसे वातावरण में बातचीत हो सकती है।

मुझे लगता है कि सरकार का फैसला सही है कि शांति वार्ता और आतंकवाद एक साथ संभव नहीं है। जब इमरान खान पाकिस्तान की सत्ता में आए तो उन्होंने कुछ शांति भरे मैसेज भेजने की कोशिश की। लेकिन हमें ये समझना है कि क्या पाकिस्तान का पूरा इस्टेबलिशमेंट ये शांति चाहता है। ऐसा लगता है कि जो कहा जा रहा है, जिस बारे में बात की जा रही है और जो जमीन दिख रहा है उसमें भिन्नता है। मुझे लगता है कि ये बेईमानी है।

पाकिस्तान के सैनिकों द्वारा BSF के जवान नरेन्द्र सिंह का गला काटने की घटना को लेकर बिपिन रावत ने कहा कि वो लोग पाकिस्तानी सेना की मदद से बर्बर कृत्य कर रहे हैं। यह पहली बार नहीं है कि उन्होंने ऐसा किया है। रावत ने कहा पाकिस्तान कश्मीर में हिंसा चाहता है। वो चाहते है कि कश्मीर में शांति नहीं लौटनी चाहिए। वे कश्मीर के युवाओं को कट्टरपंथी बनाने की कोशिश कर रहे हैं। पाकिस्तान हजारों जख्म देकर भारत की जमीन पर खून बहाना चाहता है। 

कमेंट करें
qDHZR