comScore

बॉलीवुड की 'मॉडर्न वुमन' कही जाने वाली शम्मी आंटी का लंबी बीमारी के बाद निधन

March 06th, 2018 18:17 IST

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस शम्मी आंटी ने लंबी बीमारी के बाद दुनिया को अलविदा कह दिया है। शम्मी आंटी का असली नाम नरगिस रबाड़ी था। शम्मी आंटी ने सिर्फ फिल्मों में ही नहीं बल्कि कई फिल्मों में भी मां का किरदार निभाया है। 1931 में मुंबई में जन्मी शम्मी आंटी ने करीब 200 फिल्मों काम किया है। उनके निधन पर अमिताभ बच्चन ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शोक जताया है। शम्मी आंटी को इंडस्ट्री में शम्मी के नाम से ही जाना जाता है। माना जा रहा है कि शम्मी आंटी काफी समय से बीमार चल रही थीं, सोमवार की रात एक बजे उन्होंने अपनी आखिरी सांसे ली हैं।

बता दें कि अभी हाल ही में इंडस्ट्री की जानी-मानी एक्ट्रेस श्रीदेवी का निधन हुआ था। जिसके शोक बॉलीवुड अभी उबरा भी नहीं था कि एक बार फिर से बॉलीवुड में शोक की लहर दौड़ गई है। सबसे पहले बिग बी ने ट्विटर पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है कि- 'बेहतरीन अदाकारा और परफॉर्मर अब हमारे बीच नहीं हैं। उनकी तबीयत लंबे समय से खराब चल रही थी। धीरे-धीरे सभी जा रहे हैं।'

बता दें कि शम्मी ने न सिर्फ फिल्मों में, बल्कि टीवी शोज में भी एक्टिंग की है। उनके चर्चित शो 'देख भाई देख' को कौन भूल सकता है? 'जबान संभाल के', 'फिल्मी चक्कर' जैसे शो में भी नजर आ चुकी हैं। उन्होंने कुली नं.-1 हम, गोपी-किशन, हम साथ-साथ हैं समेत 200 फिल्मों में काम किया है। उन्होंने कई टेलीविजन शोज में भी काम किया है। वह बीते 64 सालों से इंडस्ट्री में सक्रिय रूप से काम कर रही थीं। उनकी पहली फिल्म उस्ताद पेद्रो थी, उस वक्त उनकी उम्र सिर्फ 18 साल थी। हालांकि बतौर हीरोइन उनकी पहली फिल्म मल्हार थी।

शम्मी ने दिलीप कुमार के साथ भी फिल्म संगदिल में काम किया था उन्हें बड़े परदे पर मॉर्डन वुमन के तौर पर भी जाना जाता रहा है। उन्होंने फिल्म प्रोड्यूसर और डायरेक्टर सुल्तान अहमद से शादी की थी। उनकी यादगार फ़िल्मों में ‘मल्हार’, ‘संगदिल’, ‘हाफ टिकट’, ‘जब जब फूल खिले’, ‘सजन’, ‘डोली’, ‘उपकार’, ‘इत्तेफ़ाक़’ जैसी फ़िल्में शामिल हैं।

कमेंट करें
2dhkC