comScore

बसपा विधायक राम बाई के पति पर घोषित इनाम निरस्त, देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड

बसपा विधायक राम बाई के पति पर घोषित इनाम निरस्त, देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड

डिजिटल डेस्क,दमोह । कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या कांड के आरोपी एवं पथरिया विधानसभा से बसपा की विधायक राम बाई के पति के गुरुवार को विधानसभा में दिखाई देने के उपरांत मची उथल-पुथल के बाद तीनों पक्ष आमने सामने आ गए हैं। जहां एक ओर विधायक एवं उनके पति इस मामले में किसी भी प्रकार की जांच के लिए तैयार हैं , वही पीड़ित पक्ष  ने सरकार बचाने के लिए सत्ता पक्ष द्वारा विधायक के दबाव में आरोपी को बचाने की भरसक कोशिश का आरोप लगाया है। वही पुलिस इस मामले में साक्ष्य के आधार पर एक बार फिर विवेचना किए जाने की बात कर रही है।

आवेदनों की जांच की जा रही है

उल्लेखनीय है कि भोपाल में विधानसभा के अंदर विधायक राम बाई के पति गोविंद सिंह के पहुंचने के उपरांत जैसे ही इस मामले में हलचल मची तो विपक्ष सक्रिय हो गया और आनन-फानन में इस मामले में खींचतान शुरू हो गई। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक विवेक सिह का कहना है कि देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड में आरोपी गोविंद सिह की ओर से प्राप्त आवेदनों की जांच की जा रही है।  इस जांच में कुछ ऐसे तथ्य प्राप्त हुए हैं जिससे उन पर आरोप सिद्ध नहीं हो पा रहा है, यही कारण है कि पुलिस विभाग द्वारा जो उन पर पहले 10 हजार  और उसके उपरांत 25 हजार का इनाम घोषित किया गया था ,उसे निरस्त कर दिया गया है। इसके अलावा इस मामले में धारा 173(8) के तहत पुन: विवेचना की जा रही है ।इसकी जांच होने के उपरांत कार्यवाही की जाएगी। तब तक के लिए इस मामले में गिरफ्तारी से भी छूट मिल गई है।

किसी भी प्रकार की जांच के लिए तैयार 

दूसरी ओर विधायक रामबाई व  पति गोविंद सिह का कहना है कि इस मामले में वह किसी भी प्रकार की जांच के लिए तैयार हैं। इसमें उनका कहीं भी किसी भी प्रकार का कोई हाथ नहीं है। उन्हें व उनके परिवार को झूठा फंसाया गया है।  इसके अलावा देवेंद्र चौरसिया के पुत्र सोमेश चौरसिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार बचाने के लिए सत्ता पक्ष आरोपी का सहयोग कर रही है। जबकि इस मामले में वह पूर्ण रूप शामिल हैं।
 

कमेंट करें
hPvSN