comScore

नाले में पिलर डालकर खड़ी कर दी बिल्डिंग , मनपा ने भेजा नोटिस

नाले में पिलर डालकर खड़ी कर दी बिल्डिंग , मनपा ने भेजा नोटिस

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महल के लकड़ापुल क्षेत्र में नाले के ऊपर अवैध निर्माण कर दो बिल्डिंग बनाई गई है। इन दोनों बड़ी-बड़ी बिल्डिंग में लगभग 25 वर्षों से स्कूल और अस्पताल चल रहा  है।  मनपा अब नींद से जागी और दोनों अतिक्रमण पर नोटिस दिया है। अधिकारियों का कहना है नाले पर बनाई इमारतें अतिक्रमण ही है। एक में स्व. श्री नानासाहेब दवंडे स्मृति मंदिर शिक्षण विकास मंडल द्वारा लोटस कांवेंट स्कूल संचालित हो रहा है। यह स्कूल नर्सरी से केजी 2 तक है। दूसरी बिल्डिंग श्री नवयुवक स्नेह मंडल की है। इस बिल्डिंग में नीचे दुकानें बना कर लीज पर दे दी गई है, जबकि ऊपर के फ्लोर पर चिरंजीवी अस्पताल है। यह दोनों बिल्डिंग नाले के ऊपर बनी हुई हैं। एक इमारत में ट्रस्ट द्वारा वाचनालय भी संचालित किया जाता है। मनपा ने  दोनों इमारतों से संबंधित दस्तावेज दिखाने का नोटिस दिया है। 

पिलर डाल कर खड़ी कर दी बिल्डिंग
यह इमारतें पूरी तरह से अवैध है। श्री नवयुवक स्नेह मंडल की इमारत में नीचे दुकानें बना कर लीज पर दे दी गई हैं। साथ ही ऊपर के फ्लोर में अस्पताल चल रहा है। अस्पताल को ही लगभग 25 साल हो गए हैं। इसकी जानकारी अस्पताल अध्यक्ष डॉ. अशोक अढाऊ ने दी। इमारत के आगे का हिस्सा सड़क पर है, लेकिन पीछे नाले में पिलर डाल कर ऊपर इमारत खड़ी कर दी गई है।  

कई सालों से नहीं हुई है नालों की सफाई
यह बिल्डिंग लगभग 27 साल पुरानी है। पूरे शहर में नाला सफाई अभियान चल रहा है, लेकिन इस नाले पर कोई ध्यान नहीं देता।  

नर्सरी से केजी 2 तक है स्कूल
नाले पर बने लोट्स कांवेंट स्कूल में हर वर्ष 100-150 बच्चे पढ़ते हैं। यह स्कूल नर्सरी से केजी 2 तक है। यह भी 20 साल से ज्यादा पुराना है।  स्कूल की प्राचार्या से बात करने पर पता चला है कि यह स्कूल स्व. श्री नानासाहेब दवंडे स्मृति मंदिर शिक्षण विकास मंडल का है और अभी इसकी आॅनर कमलताई नारायणराव दवंडे है जो कि नंदनवन क्षेत्र में रहती हैं।

जवाब देने से बच रहे वाचनालय के अधिकारी
इन दोनों इमारतों के बारे में ज्यादा जानकारी किसी को नहीं है। बात करने पर यही बोला जाता है कि यह लीज पर ली गई है, लेकिन नाले पर कोई भी निर्माण अतिक्रमण के दायरे में आता है। ऐसे में इतने समय से चल रहे अस्पताल, स्कूल और दुकानें अवैध है। एक इमारत में नवयुवक स्नेह मंडल वाचनालय भी है। इस विषय में वाचनालय के अधिकारी नंदू बंसोरे से बात करने की कोशिश की गई तो वह जानकारी देने से इनकार करते रहे और मामले से बचने कोशिश करते रहे। 

ऐसी कोई सूचना नहीं आई
वह दाेनों बिल्डिंग बहुत पुरानी हैं। अतिक्रमण की कोई सूचना इसके पहले नहीं आई। हो सकता है पहले मनपा ने नोटिस दिया हो दोनाें बिल्डिंग के लिए।- श्रद्धा पाठक, नगर सेविका, प्रभाग-22

कभी दस्तावेज जांचे ही नहीं गए
इस विषय पर मुझे जानकारी नहीं है। मैं चेक कर ही बता पाउंगा कि इमारतें अवैध है या नहीं। इससे संबंधित पहले कोई दस्तावेज जांचे नहीं गए। - अशोक पाटील, सहायक आयुक्त, गांधीबाग जोन 

दोनों बिल्डिंग अवैध 
हमने जांच की है और दोनों बिल्डिंग अवैध हैं। दोनों ने नाले पर निर्माण किया हुआ है। दोनों बिल्डिंग के मालिकों को नोटिस दिया गया है कि यदि कोई दस्तावेज है तो दिखाएं। दस्तावेज नहीं होने पर कार्रवाई करेंगे।  - रविंद्र ठाकरे, अतिरिक्त आयुक्त, मनपा

कमेंट करें
vj5kC