comScore

मारा गया कश्मीर घाटी का मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा, लंबे समय से थी तलाश

May 23rd, 2019 23:05 IST
मारा गया कश्मीर घाटी का मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा, लंबे समय से थी तलाश

हाईलाइट

  • कश्मीर घाटी का मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा एनकाउंटर में मारा गया
  • जाकिर मूसा अलकायदा से संबंधित संगठन अंसार गजवातुल हिंद का चीफ था
  • 24 मई को कश्मीर डिवीजन के सभी स्कूलों-कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया गया है

डिजिटल डेस्क, जम्मू। कश्मीर घाटी का मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा एनकाउंटर में मारा गया है। गुरुवार को सुरक्षाबलों ने मूसा को कश्मीर के त्राल में ढेर कर दिया। जाकिर मूसा अलकायदा से संबंधित संगठन अंसार गजवातुल हिंद का चीफ था। सुरक्षाबलों को लंबे समय से जाकिर मूसा की तलाश थी। मूसा के एनकाउंटर के बाद कश्मीर में डिवीजनल एडमिनिस्ट्रेशन ने कल 24 मई को कश्मीर डिवीजन के सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया है। यह फैसला एहतियात के तौर पर लिया गया है।

सूत्रों ने कहा कि सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप, और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने त्राल क्षेत्र के ददसारा गांव में दो आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी के बाद सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। इस दौरान सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को सरेंडर करने के लिए कहा। आतंकियों ने सरेंडर करने के बजाय हथगोले फेंके और गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षाबलों की तरफ से भी इसका जवाब दिया गया और इस कार्रवाई में दो आतंकी मारे गए। मारे गए आतंकियों में से एक की पहचान जाकिर मूसा के रूप में हुई है।

जाकिर मूसा 2016 में मारा गया आतंकी बुरहान वानी का करीबी सहयोगी था। उसे आतंक का पोस्टर बॉय भी कहा जाता था। बीते दिनों कश्मीर में तमाम आतंकियों के जनाजे में मूसा के समर्थन में नारे लगाने की बात सामने आई थी। मूसा 2017 से पहले हिज्बुल मुजाहिदीन के साथ जुड़ा था। जाकिर मूसा का असली नाम जाकिर रशीद भट था। वह चंडीगढ़ के एक इंजीनियरिंग कॉलेज का छात्र था और शिक्षा छोड़ आतंकी संगठन में शामिल हो गया था।बुरहान वानी की मौत के बाद, जाकिर मूसा ने कश्मीर राज्य के अलगाववादी नेताओं का सिर कलम करने की धमकी भी दी थी।

अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया है। शुक्रवार को कश्मीर घाटी में सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया है। डिविजनल कमिश्नर बेसर अहमद खान ने कहा कि यह फैसला एहतियात के तौर पर लिया गया है।
 

कमेंट करें
xPEQR