comScore

जब दूल्हा बनकर नामांकन दर्ज करवाने पहुंचा प्रत्याशी

जब दूल्हा बनकर नामांकन दर्ज करवाने पहुंचा प्रत्याशी

डिजिटल डेस्क,शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश)। लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार का दौर जारी है। 11 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होगा। इससे पहले चर्चा में आने के लिए प्रत्याशी अजब-गजब तरीके अपना रहे हैं। वहीं शाहजहांपुर में एक प्रत्याशी एक अनोखे अंदाज में नामांकन करने पहुंचा। सोमवार को लोकसभा प्रत्याशी ने सेहरा बांध कर और घोड़ी पर सवार होकर बैंड बाजे की धुन पर नाचते हुए बारातियों के साथ अनोखे अंदाज में नामांकन किया। इस अनोखे ढंग से नामांकन पूरे शहर में चर्चा का विषय बन गया है।

संयुक्त विकास पार्टी के प्रत्याशी बैधराज किशन सोमवार 8 अप्रैल को घंटाघर से दूल्हा बनकर घोड़ी पर सवार होके नामांकन के लिए जा रहे थे, लेकिन कलेक्ट्रेट पहुंचने से पहले ही उनकी बारात को रोक लिया गया, पुलिस और प्रशानिक अधिकारियों ने उन्हें घोड़ी से उतार दिया। इसके बाद वहां से किशन लाल को बिना बैंडबाजे के कलेक्ट्रेट तक पैदल जाना पड़ा। जिसके बाद उन्होंने नामांकन पत्र दाखिल कराया।

नामांकन के दौरान किशन लाल ने मेरे पैरों में घुंघरू बांध, फिर मेरी चाल देख ले, आज मेरे नामांकन की बारी है आदि फिल्मी गीतों पर ठुमके लगाकर सभी को आकर्षित करने का प्रयास किया। जिसे देख सभी आश्चर्यचकित हुए।

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि वह 'राजनीति के दामाद हैं' और आज उनकी शादी की सालगिरह है, इसलिए वह दूल्हा बनकर नामांकन कराने आए हैं। वैद्यराज किशन पिछले विधानसभा चुनाव में अर्थी पर लेट कर नामांकन कराने गए थे, इससे पहले वह भैंसा गाड़ी पर सवार होकर भी नामांकन करा चुके हैं। बता दें कि पहले भी वह कई चुनावों में अपनी किस्मत आजमा चुके हैं ।  


 

कमेंट करें
KOHGU