comScore

कप्तानी एक सम्मान और बड़ी जिम्मेदारी: हरमनप्रीत सिंह

कप्तानी एक सम्मान और बड़ी जिम्मेदारी: हरमनप्रीत सिंह

हाईलाइट

  • भारतीय ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह जिन्होंने 2015 में हॉकी टीम में प्रवेश किया था, आगामी ओलंपिक टेस्ट इवेंट में टीम का नेतृत्व करेंगे और उन्होंने कहा कि कप्तानी की भूमिका एक बड़ी जिम्मेदारी होगी

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु (कर्नाटक)। भारतीय हॉकी टीम के ड्रैग-फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह को आगामी ओलंपिक टेस्ट इवेंट में टीम की कप्तानी सौंपी गई है। टीम की कप्तानी मिलने पर हरमनप्रीत सिंह ने कहा- कप्तान की भूमिका निभाना एक बड़ी जिम्मेदारी होगी। हरमनप्रीत सिंह ने 2015 में भारतीय हॉकी टीम के लिए डेब्यू किया था। 

हरमनप्रीत सिंह ने एक आधिकारिक बयान में कहा, जब मुझे बताया गया कि, मैं टीम का नेतृत्व करूंगा, तो यह सुखद आश्चर्य था। यह एक सम्मान और बड़ी जिम्मेदारी है। मैं उत्साहित हूं और चुनौती के लिए उत्सुक हूं।

वह रियो 2016 ओलंपिक में टीम का हिस्सा थे, और वह एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी में रजत पदक जीतने वाली टीम में भी शामिल थे। हरमनप्रीत को राइजिंग प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट भी चुना गया था। तब से हरमनप्रीत सिंह ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया। 

उन्होंने कहा, "जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि मैं उस समय भारतीय टीम में आया जब स्टालवार्ट खिलाड़ी थे जिनसे मैं बहुत कुछ सीखा। सीनियर में सरदार सिंह और वीआर रघुनाथ जैसे खिलाड़ियों का मेरे खेल पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा। हरमनप्रीत ने कहा कि, टीम और उनके मार्गदर्शन ने मुझे अंतरराष्ट्रीय हॉकी के दबाव को झेलने में मदद की।

हॉकी इंडिया ने 25 जुलाई को जापान में ओलंपिक टेस्ट आयोजन के लिए 18 सदस्यीय टीम की घोषणा की थी। टीम प्रबंधन ने कप्तान मनप्रीत सिंह, पीआर श्रीजेश और सुरेंद्र कुमार जैसे वरिष्ठ खिलाड़ियों को आराम देने का फैसला किया था। भारतीय टीम के मुख्य कोच ग्राहम रीड ने कहा था कि, ब्रेक खिलाड़ियों को किसी भी गंभीर चोट से बचाने में मदद करेगा और नवंबर में होने वाले ओलंपिक क्वालीफाइंग मैचों से पहले खिलाड़ी खुद को तरोताजा कर लेंगे। 

वरिष्ठ खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में, हरमनप्रीत सिंह और मनदीप सिंह को क्रमशः कप्तान और उप-कप्तान के रूप में नामित किया गया। आशीस टोपनो और शमशेर सिंह को भारतीय राष्ट्रीय टीम में डेब्यू का मौका दिया गया। 

हरमनप्रीत ने ओलंपिक टेस्ट इवेंट में खेलने की चुनौती का स्वागत करते हुए कहा कि, सीनियर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में, युवाओं को अपने आप को साबित करने का मौका मिलेगा। हमारे पास "मलेशिया, जापान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलने के लिए अच्छी टीमें हैं और देखते हैं कि हम ओलंपिक क्वालीफायर से आगे एक इकाई के रूप में कहां खड़े हैं।

मलेशिया ने हाल ही में एक मैच में जर्मनी को हराया था और जापान भी अच्छा कर रहा है जबकि न्यूजीलैंड अच्छी स्थिति में आ रहा है। हरमनप्रीत ने एफआईएच प्रो लीग से संपर्क किया।

हरमनप्रीत ने कहा- आराम करने वाले वरिष्ठ खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में, यह महत्वपूर्ण है कि, हम अपने खेल में कदम रखें। हम अच्छी तरह से तैयार हैं, एक विशेष गोलकीपर कैंप और डिफेंडर्स कैंप में भाग लिया। हम हर मैच जीतने के इरादे से खेलेंगे। ओलंपिक टेस्ट इवेंट 17 से 21 अगस्त के बीच जापान में आयोजित होंगे। 

18 सदस्यीय भारतीय टीम ओलंपिक टेस्ट इवेंट के लिए इस प्रकार है:

हरमनप्रीत सिंह (कप्तान), मनदीप सिंह (उप-कप्तान), कृष्ण बहादुर पाठक, गुरिंदर सिंह, कोथाजीत सिंह खड़गबाम, हार्दिक सिंह, नीलकंठ शर्मा, विवेक सागर प्रसाद, जसकरन सिंह, गुरसाहिबजीत सिंह, नीलम संदीप एक्सस, जनमनप्रीत सिंह, वरन सिंह वर्मा , आशीस टोपनो, एसवी सुनील, गुरजंत सिंह, शमशेर सिंह, सूरज ककेरा।

कमेंट करें
l6fJm