comScore

शव वाहन नहीं मिला, तो कांधे पर शव रखकर गांव पहुंचे परिजन

March 10th, 2019 12:46 IST
शव वाहन नहीं मिला, तो कांधे पर शव रखकर गांव पहुंचे परिजन

डिजिटल डेस्क,डिंडोरी। मध्य प्रदेश के डिण्डोरी जिले से शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी है। पुलिस ने जिस शव का पोस्ट मार्टम कराया, उस शव को ले जाने के लिए शव वाहन उपलब्ध नहीं कराया जा सका है। परिजन पुलिस  प्रशासान से व अस्पताल प्रशासन के सामने गिड़गिड़ाते रहे,लेकिन पीडित परिजवार को शव वाहन मुहैया नहीं हो सका। थक हारकर परिजनों ने कांधों पर रखकर 6 किलो मीटर का सफर तय कर शव को अपने गांव तक लेकर आये हैं।
यह है मामला-
जिले के बजाग थाना क्षेत्र में मानवता को शर्मसार करने वाली एक तस्वीर सामने आई है। यहां शव वाहन नहीं मिलने के कारण परिजनों को मृतक का शव कांधे में रखकर छह किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव तक ले जाना पड़ा। जानकारी के अनुसार जंगल में शुक्रवार की देर शाम संदिग्ध परिस्थितियों में बुजुर्ग बैगा विष्णु सिंह पिता मक्कू उम्र 79 वर्ष निवासी टुर्रीटोला सारंगपुर का शव मिलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी।
यह हुआ परिजनों के साथ-
पुलिस शव को पीएम के लिए लेकर आयी, जिसके बाद शनिवार को मृतक के परिजन पीएम के बाद कांधे में शव रख कर अपने गांव लौटना पड़ा। गौरतलब है कि मृतक का गांव बजाग से छ: किलोमीटर दूर था  लेकिन न तो पुलिस ने और न अस्पताल प्रबंधन ने शव को गांव तक पहुंचाने की जहमत उठाई। जिसके बाद परिजनों ने परेशान होकर अपने कंधे पर शव ले जाना मुनासिब समझा।
सरकारी व्यवस्था पर उठे सवाल-
इस मामले की तस्वीर सामने आने के बाद यहा राज्यसभा सांसद सम्पतिया उइके ने कमलनाथ सरकार के सिस्टम पर सवाल खड़े कर रही हैं वही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी का कहना है कि अगर जानकारी होती तो वो जिला अस्पताल का शव वाहन मुहैया कराते। वहीं परिजनों में इसको लेकर आक्रोश है। परिजनों का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन से लगतार शव ले जाने के लिए शव वाहन मांगा गया, लेकिन अस्पताल के अधिकारियों ने उनकी एक नहीं सुनी।

कमेंट करें
CZtij