comScore
Dainik Bhaskar Hindi

बरेली में थाने में बीजेपी नेत्री और कॉन्स्टेबल के बीच थप्पड़बाजी

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 15th, 2018 18:26 IST

4.2k
0
0

डिजिटल डेस्क, बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में चौंका देने वाला मामला सामने आया है। जहां गुस्साई बीजेपी नेत्री ने कॉन्स्टेबल को पुलिस थाने में ही थप्पड़ जड़ दिया, जिस पर क्विक रिएक्शन कर कॉन्स्टेबल ने भी महिला नेत्री को थप्पड़ में ही करारा जवाब दिया। मामला मंगलवार रात का है जहां थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने की बात पर बीजेपी की जिला इकाई सचिव ज्योति मिश्रा ने ताव में आकर वर्दी पहने पुलिसवाले पर आपा खो बैठी थी। इस घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है जिसमें बीजेपी नेता और कॉन्स्टेबल के बीच हाथापाई होती दिख रही है। 

क्या है पूरा मामला?

दरअसल दिनेश सिंह नाम का एक सैनिक यूपी कैंट एरिया की डिफेंस कॉलोनी में रहता है। दिनेश फिलहाल कश्मीर में पदस्थ है लेकिन उसका पूरा परिवार यहीं बरेली की डिफेंस कॉलोनी में रहता है। मंगलवार रात उनका पड़ोसी सुमित गुप्ता दिनेश सिंह के मकान से सटे प्लॉट में अपने दोस्तों के साथ सरे आम शराब पीकर हल्ला कर रहा था, जिससे परेशान परिवार वालों ने उसका विरोध किया लेकिन सुमित नहीं माना और उल्टा परिवार के सदस्यों के साथ ही दुर्व्यवहार करने लगा। जिससे परेशान उन लोगों ने क्षेत्रिय बीजेपी नेत्री ज्योति मिश्रा और पुलिस को बुला लिया। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पार्टियों को थाने ले आई।

केस दर्ज कराने को लेकर गर्माया मुद्दा

इस मामले में अधिकारी ने बताया कि ज्योति मिश्रा दिनेश शर्मा के परिवार की इस मामले में  पैरवी करने पहुंची थी और पड़ोसी सुमित के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग कर रही थीं। जिसके बाद इस मुद्दे पर ज्याति और कॉन्स्टेबल विपिन में बहस हो गयी और हीट ऑफ द मूमेंट में दोनों ने एक दूसरे को थप्पड़ जड़ दिया। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि फिलहाल कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है और दोनों ही पार्टियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है।

बीजेपी के क्षेत्रीय अध्यक्ष ने लिया नेत्री का पक्ष

इस घटना का वीडियो सामने आते ही बीजपी के बरेली डिस्ट्रिक्ट के अध्यक्ष रविंद्र राठर भी मिश्रा के पक्ष में उतर आए और उन्होंने कहा कि ज्योति मिश्रा को पुलिस काउंस्टेबल ने उकसाया था, और तो और बहसबाजी में कॉन्स्टेबल ने मिश्रा के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग भी किया था। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि हमारी नेता या कार्यकर्ता की गलती पाई जाती है, तो हम उनके खिलाफ त्वरित अनुशासनात्मक कार्रवाई करेंगे। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download