comScore

प्रद्युम्न मर्डर केस : CBI ने मांगी पिंटो फैमिली की कस्टडी

November 18th, 2017 09:44 IST
प्रद्युम्न मर्डर केस : CBI ने मांगी पिंटो फैमिली की कस्टडी

डिजिटल डेस्क, गुरुग्राम। रेयान इंटरनेशनल स्कूल के प्रद्युम्न मर्डर केस में CBI ने पिंटो फैमिली की कस्टडी मांगी है। पिंटो परिवार की जमानत याचिका पर आज हुई सुनवाई में CBI ने अपनी स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की। प्रद्युम्न मर्डर केस पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करते हुए CBI ने रेयान स्कूल के मालिकों रेयान पिंटो, उनके पिता ऑगस्टाइन पिंटो और मां ग्रेस पिंटो की जमानत याचिका खारिज करने की मांग करते हुए सभी की कस्टडी मांगी। इस मामले में अगली सुनवाई 21 नवंबर को होगी।

पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट में CBI ने कहा कि प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच अहम मोड़ पर है। इस मामले में पिंटो परिवार की भूमिका की जांच जरूरी है। बता दें कि इस मामले में 6 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने पिंटो परिवार को अंतरिम जमानत दी थी। साथ ही पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट को 10 दिनों के अंदर पिंटो फैमिली की भूमिका पर फैसला लेने का निर्देश दिया था।

गौरतलब है कि CBI ने प्रद्मुम्न मर्डर केस में 1 महीने की जांच पड़ताल के बाद 11वीं के स्टूडेंट को आरोपी बनाया है। CBI का कहना है कि आरोपी छात्र ने एग्जाम टालने के लिए प्रद्मुम्न की हत्या की थी। आरोपी छात्र भी अपना गुनाह कुबूल कर चुका है। इस मामले में पहले आरोपी बनाए गए बस कंडक्टर अशोक के खिलाफ CBI को कोई ठोस सबूत हासिल नहीं हुआ है। हालांकि अभी तक अशोक को भी जमानत नहीं दी गई है।

प्रद्मुम्न मर्डर केस
रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की लाश 8 नवंबर को स्कूल के टॉयलेट में मिली थी। उसकी हत्या गला रेतकर की गई थी। इस मामले में हरियाणा पुलिस ने सबसे पहले बस कंडक्टर अशोक को आरोपी बनाया था। अशोक ने बच्चे के साथ दुष्कर्म और हत्या की बात कुबूली थी। हालांकि बाद में वह अपने बयान से पलट गया था। इस मर्डर केस में रेयान स्कूल की भी भूमिका संदिग्ध पाई गई थी।

गुरुग्राम पुलिस द्वारा प्रद्युम्न मर्डर केस की गुत्थी न सुलझा पाने के चलते हरियाणा सरकार ने इस मामले की जांच CBI को सौंप दी थी। CBI ने एक महीने की जांच के बाद स्कूल के ही 11वीं के छात्र को इस मामले में दोषी पाया था।

कमेंट करें
flUNX