comScore

बेहोशी की दवा पिलाकर होस्टल में किया जा रहा था सेक्सुअल हरासमेंट, 3 और छात्राओं ने की शिकायत

बेहोशी की दवा पिलाकर होस्टल में किया जा रहा था सेक्सुअल हरासमेंट, 3 और छात्राओं ने की शिकायत

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। एक पूर्व विधायक के अध्यक्षता वाले होस्टल में बेहोशी की दवा देकर दुराचार करने के मामले सोमवार को नया मोड़ आया। यहां से और 3 लड़कियां सामने आयी और पुलिस से शिकायत की। उन्होंने बताया कि यह करतूत पिछले साल भर से जारी है। इस बीच आज राजुरा पुलिस ने एक महिला समेत दो लोगो को हिरासत में लिया है। वहीं रविवार को गिरफ्तार होस्टल अधीक्षक छगन पछारे को अदालत में पेश किया गया है। उधर भाजपा विधायक संजय धोटे ने आज इसी मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई। जिसमें उन्होंने बताया कि कड़ी कार्रवाई तथा संस्था की मंजूरी निकालने की मांग को लेकर वे मुख्यमंत्री से मिल रहे हैं।

धोटे ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने इस आशय की शिकायत पहले की कर दी है। इस बीच भाजपा के आदिवासी नेता वाघुजी गेडाम ने 18 अप्रैल को मोर्चा निकालने की जानकारी दी है। सोमवार को करीब डेढ़ सौ लोगों के बीच तीन पीड़िताओं ने अपनी शिकायत पुलिस को दी।

ज्ञात हो कि दो दिन पूर्व राजुरा के  इनफंट जीजस इंग्लिश मीडियम हाईस्कूल में कक्षा 3 व 5 वीं में अध्ययनरत 9 एवं 10 वर्षीय दो बालिकाओं के साथ यौन शोषण किए जाने की आशंका के चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जानकारी के अनुसार चक्कर आने की शिकायत पर बीते सप्ताह 8 बालिकाओं को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इनमें से 6 बालिकाएं ठीक होकर घर लौटी, परंतु दो बालिकाओं का स्वास्थ्य बिगड़ने पर उन्हें आदिवासी विकास विभाग के अधिकारियों ने जिला सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। इस प्रकरण को लेकर मर्दानी महिला मंच के पदाधिकारियों ने जिला पुलिस अधीक्षक से भेंट की। 

शिकायत को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने शनिवार को स्कूल के कमरों की तलाशी ली तो उन्हें आपत्तिजनक व गर्भनिरोधक सामग्री मिली। इस समय मौजूद मीडिया कर्मियों को घटनास्थल से निकाला गया। अज्ञात आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने अपराध दर्ज किया। जबकि मर्दानी महिला मंच के पदाधिकारी व पूर्व विधायक शोभा फडणवीस, चंद्रपुर मनपा महापौर अंजलि घोटेकर, समाजसेविका रजनी हजारे आदि ने एसपी से भेंट कर उचित जांच की मांग की। कार्रवाई न होने पर धरना आंदोलन की चेतावनी दी। सूत्र बताते हैं कि एसपी रेड्डी ने स्कूल को भेंट देकर जांच-पड़ताल की। दो आरोपियों को जांच के लिए हिरासत में लिए जाने की जानकारी है।

जांच में सहयोग करेंगे
लड़कियां बीमार थी, इसलिए भर्ती कराया गया। पुलिस की जांच में हम सहयोग कर रहे हैं। यदि कोई कर्मचारी दोषी पाया गया तो अवश्य कार्रवाई करेंगे।
- सुभाष धोटे, पूर्व विधायक व संस्था अध्यक्ष, राजुरा

पुलिस नॉट रिचेबल

प्रकरण के संदर्भ में अधिकृत जानकारी प्राप्त करने जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. महेश्वर रेड्डी एवं राजुरा के एसडीपीओ शेखर देशमुख के मोबाइल पर संपर्क किया गया परंतु उन्होंने कॉल रिसिव नहीं किया। जबकि राजुरा के थानेदार पी.एम.गायगोले से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि ऐसा कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है, जो शिकायत मिली है, उसकी जांच जारी है।  

कमेंट करें
02khI