comScore

छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला, पंडित दीनदयाल योजना का बदला नाम

February 13th, 2019 23:55 IST

हाईलाइट

  • छत्तीसगढ़ सरकार ने लिया बड़ा फैसला
  • पंडित दीन दयाल उपाध्याय योजनाओं को बदला नाम
  • इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और डॉ भीमराव के नाम पर रखा योजनाओं का नाम

डिजिटल डेस्क, रायपुर। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने राज्य में चल रही योजनाओं को लेकर बड़ा फैसला किया है। छत्तीसगढ़ सरकार ने नगरीय प्रशासन और विकास विभाग की पांच योजनाओं से पंडित दीनदयाल उपाध्याय का नाम में बड़ा बदलाव किया है। सरकार ने इन योजनाओं से पंडित दीन दयाल उपाध्याय का नाम हटाकर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और डॉ भीमराव अंबेडकर का नाम जोड़ दिया है।

बता दें कि सरकार ने जिन पांच योजनाओं का नाम बदला वो बीजेपी सरकार के कार्यकाल की योजनाएं हैं। कांग्रेस की भूपेश सरकार ने एक आदेश जारी करते हुए छत्तीसगढ़ नगरीय अधोसंरचना विकास निधि से संचालित राज्य प्रवर्तित योजनाओं के नाम बदल दिए हैं। जानकारी के मुताबिक राज्य शासन ने दीनदयाल उपाध्याय स्वावलंबन योजना का नाम बदलकर राजीव गांधी स्वावलंबन योजना कर दिया है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय सर्वसमाज मांगलिक भवन योजना का नाम अब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर सर्वसमाज मांगलिक भवन योजना होगा। इसके अलावा पंडित दीनदयाल उपाध्याय एलईडी पथ प्रकाश योजना का नया नाम इंदिरा प्रियदर्शिनी एलईडी पथ प्रकाश योजना, पंडित दीनदयाल उपाध्याय आजीविका केंद्र योजना का नाम राजीव गांधी आजीविका केंद्र योजना और पंडित दीनदयाल उपाध्याय शुद्ध पेयजल योजना का नाम इंदिरा प्रियदर्शिनी शुद्ध पेयजल योजना कर दिया है। 


कांग्रेस सरकार द्वारा योजनाओं का नाम बदलने से बीजेपी कार्यकर्ताओं में काफी रोष बना हुआ है। उन्होंने सरकार के इस फैसले का जमकर विरोध किया है। बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि पार्टी योजनाओं से पंडित दीनदयाल उपाध्याय का नाम हटाने को लेकर विधानसभा में अपना विरोध दर्ज़ कराएगी। उन्होंने सवाल किया कि सरकार ने इन योजनाओं को बेहतर बनाने के लिए क्या किया? यदि बिना प्रावधानों के सिर्फ नाम बदला गया है तो यह ''बदलापुर की नई कड़ी है।''रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने जानबूझ कर सभी योजनाओं के नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर बदले हैं। यह उनकी मानसिकता को दिखाता है।

कमेंट करें
Tv0Vs
कमेंट पढ़े
Omprakash April 07th, 2019 11:09 IST

Important line ko hi light kare