comScore
Dainik Bhaskar Hindi

ऑफिस में बैठे मिले डीई तो खैर नहीं- चीफ इंजीनियर का फरमान, कार्यो में तेजी लाने का दिया निर्देश

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 14th, 2018 14:07 IST

4.2k
1
0
ऑफिस में बैठे मिले डीई तो खैर नहीं- चीफ इंजीनियर का फरमान, कार्यो में तेजी लाने का दिया निर्देश

डिजिटल डेस्क, सिंगरौली (वैढ़न)। समाधान योजनाओं के कार्यों की समीक्षा करने यहां आये मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के चीफ इंजीनियर और सौभाग्य योजना के नोडल ऑफीसर मोहन सिंह यादव ने भी जिले में सौभाग्य के कार्यों की स्थिति को लेकर असंतोष जताया। उन्होंने गत दिवस वैढ़न स्थित बिजली कंपनी के डिवीजन ऑफिस में सिटी डिवीजन, ओएंडएम, एसटीसी व कांट्रेक्टरों की एक बैठक ली। जिसमें ग्रामीण डीई मृगेन्द्र सिंह चंदेल को फटकार लगाते हुए कहा है कि आप ऑफिस में न बैठें, फील्ड पर जायें और सौभाग्य के कार्यों में जरूरत पड़ने पर अपने स्थानीय अमले को भी लगाएं। शाम को एक-दो घंटे का समय ऑफिस में दें, लेकिन दिन में फील्ड में ही रहें। 

हर घर तक बिजली पहुंचाने की कवायद जारी है और सौभाग्य योजना का हाल जिले में काफी खराब है। कभी सामग्री की किल्लत, तो कभी इस कार्य को करने वालों द्वारा की जाने वाली लेटलतीफी और कभी स्थानीय जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा ढंग़ से इन कार्यों की मॉनीटरिंग नहीं कर पाने की समस्या बनी रहती है। नतीजा, ऐसे हालात में जन-जन के लिये सौभाग्य बनने वाली यह योजना पर दुर्भाग्य का ग्रहण लगा रहता है। ऐसे हालात में योजना के कार्यों में तेजी लाने और समीक्षा करने समय-समय पर कंपनी के उच्च अधिकारी यहां दौरा करते रहते हैं। बावजूद इसके कोई खास फर्क नहीं पड़ता और सौभाग्य की प्रगति रिपोर्ट बढ़ते समय के साथ बढ़ नहीं पा रही है।

हाल ही में सौभाग्य, सरल और इसके अलावा उन्होंने यह भी कहाकि जहां भी कम्युनिकेशन गैप हो रहा है, उसे दुरूस्त करें। इस योजना में कोई हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने सौभाग्य की मॉनीटरिंग कर रहे एसटीसी के डीई अमित कुमार सहित इससे जुड़े अन्य अधिकारियों को भी अलग-अलग कार्यों का लक्ष्य दिया है और तय समय से काफी पीछे चल रहे सौभाग्य के सभी कार्य आगामी 30 अक्टूबर तक पूर्ण करने का भी निर्देश दिया है। 
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर