comScore

चाइल्ड हेल्प लाइन सदस्यों ने रुकवाया बाल-विवाह, आने वाली थी बारात

चाइल्ड हेल्प लाइन सदस्यों ने रुकवाया बाल-विवाह, आने वाली थी बारात

डिजिटल डेस्क, कटनी। ढीमरखेड़ा के आमाझाल पंचायत में बालिका को वधु बनाने की तैयारी पूरी कर चुके थे। मण्डप के नीचे तेल और हल्दी की रस्में भी पूरी कर ली गई थी। बारात आने की तैयारी रही कि उसके पहले चाइल्ड हेल्प लाइन के सदस्यों को इसकी जानकारी लग गई। जिसके बाद पहुंचते हुए बालिका को वधु बनाने से रोका गया। इस दौरान पुलिस और महिला बाल विकास के अधिकारी भी रहे। जिस नाबालिग की शादी की जा रही थी। उसकी उम्र महज 16 वर्ष 8 माह ही रही। परिवार वालों को समझाया गया  कि 18 वर्ष से पहले बालिका का विवाह करना गैर-कानूनी है। पहले तो रिश्तेदार  शादी की पूरी तैयारी को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष इस बात का रोना रोते रहे कि इससे उन्हेें आर्थिक नुकसान के साथ रिश्तेदारों की भी खरी-खोटी सुननी होगी। सदस्यों ने जब तीन लाख रुपए का आर्थिक दण्ड के साथ जेल भुगतने की बात बताई, तब परिजन और रिश्तेदार सदस्यों की हां में हां मिलाने लगे। इस संबंध में नाबालिग के पिता ने लिखकर एक पत्र भी सौंपा। 

दहेज नहीं मिला तो रचा ली दूसरी शादी
एक दहेज लालची ने दो महिलाओं का जीवन अधर में लटका दिया। मामला कोतवाली थाना क्षेत्र के गायत्री नगर का है। यहां पर रविन्द्र विश्वकर्मा पत्नी लक्ष्मी शिवहरे को दहेज के लिए लगातार प्रताड़ित करता रहा। रुपए की मांग को लेकर वह महिला का मानसिक प्रताड़ना देता रहा। महिला और मायके पक्ष के लोग जब इसमेें असमर्थ रहे तब पति ने दूसरी शादी ही रचा ली।  महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध धारा 498,494 के तहत मामला कायम किया है।
 

छह पर दहेज प्रताड़ना
एक अन्य मामले में पुलिस ने छह लोगों पर दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज किया है। स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र के ग्राम पहरुआ में महिला रोशनी बाई पति ने दहेज की मांग को लेकर ससुराल पक्ष के ऊपर दहेज की मांग कर शारीरिक और मानसिक प्रताडऩा के आरोप लगाए हैं। शिकायत पर पुलिस ने पति आशीष गोस्वामी, ससुर गनेश गोस्वामी, सास माया बाई के साथ नंनद और देवर पर धारा 498,506,34, दहेज एक्ट के तहत मामला कायम किया है।

कमेंट करें
XphA6