comScore
Dainik Bhaskar Hindi

अरुणाचल में 1 km अंदर तक घुसा चीन, बोला- अरुणाचल का कोई अस्तित्व नहीं

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 04th, 2018 20:51 IST

729
0
0

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। चीन ने एक बार फिर भारतीय सीमाओं को लांघकर देश की संप्रभुता को ठेस पहुंचाई है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पिछले दिनों चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी अरुणाचल के तूतिंग इलाके में करीब एक किलोमीटर अंदर तक आ घुसी थी। सरकारी सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि चीनी आर्मी की एक ट्रैक अलाइनमेंट टीम अरुणाचल में काफी अंदर तक आ गई, जिसे भारतीय सेना ने वापस लौटाया। इस घुसपैठ के बारे में जब चीन से पूछा गया तो उसने अरुणाचल के अस्तित्व को ही खारिज कर दिया।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने बुधवार को इस मसले पर यह तो स्वीकार नहीं किया कि चीनी आर्मी भारतीय क्षेत्र में घुसी लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि चीन ने अरुणाचल के वजूद को कभी नहीं माना। गेंग ने कहा, 'सीमा मुद्दे पर हमारी स्थिति स्पष्ट रही है। हमने तथाकथित अरुणाचल प्रदेश के वजूद को कभी नहीं माना है। जहां तक सवाल है चीनी टीम के भारतीय क्षेत्र में घुसने का तो मैं इससे वाकिफ नहीं हूं।'

बता दें कि चीन-भारत के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) 3,488 किमी है। इस सीमा पर कई ऐसे क्षेत्र हैं जिस पर हमेशा से विवाद रहा है। बात जब अरुणाचल की है तो चीन इसे साउथ तिब्बत का हिस्सा बताता रहा है।

गौरतलब है कि इसी साल जून में चीनी सैनिकों द्वारा भूटान के डोकलाम क्षेत्र में रोड बनाने को लेकर दोनों देशों के बीच विवाद शुरू हुआ था। भारतीय सैनिकों ने भारत, चीन और भूटान के इस ट्राइजंक्शन में पहुंचकर चीनी सेना को रोड बनाने से रोक दिया था। इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच हाथापाई भी हुई थी। इस घटना के बाद करीब ढाई महीनों तक डोकलाम में भारतीय-चीनी सैनिक एक-दूसरे के सामने डंटे हुए थे। इस दौरान चीनी मीडिया ने कई बार भारत को युद्ध की धमकी भी दी थी। हालांकि अगस्त के अंत तक यह विवाद सुलझा लिया गया था।

बता दें कि डोकलाम भूटान का क्षेत्र है, जिस पर चीन अपना हिस्सा होने का दावा करता आया है। वहीं भारत का कहना है कि चीन डोकलाम पर कब्जा कर भारत-चीन और भूटान के ट्राइजंक्शन का नक्शा बिगाड़ना चाहता है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर