comScore
Dainik Bhaskar Hindi

10वीं कक्षा के छात्र ने दोस्तों पर उड़ाए 46 लाख, स्कूल में बांटे स्मार्टफोन और चांदी के ब्रेसलेट

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 12th, 2018 22:28 IST

843
0
0
10वीं कक्षा के छात्र ने दोस्तों पर उड़ाए 46 लाख, स्कूल में बांटे स्मार्टफोन और चांदी के ब्रेसलेट

News Highlights

  • जबलपुर से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है।
  • एक छात्र ने अपने ही घर से पिता के 46 लाख रुपए उठा लिए।
  • छात्र ने स्कूल और कोचिंग के सभी दोस्तों को कुछ ना कुछ गिफ्ट दे दिया।


डिजिटल डेस्क, जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जबलपुर के एक छात्र ने अपने ही घर से पिता के 46 लाख रुपए उठा लिए। यही नहीं उसने यह सारे रुपए अपने दोस्तों में भी बांट दिये। यह छात्र दसवीं कक्षा में पढ़ता है। पैसे लेकर यह छात्र स्कूल पहुंचा। वहां इस छात्र ने एक मजदूर के बेटे को 15 लाख रुपये दिये। वहीं एक दूसरे दोस्त को उसने अपनी होमवर्क कराने के 3 लाख रुपये दे दिए।

एक रिपोर्ट के अनुसार छात्र ने ये पैसे फ्रैंडशिप डे के दिन घर से उठाए थे। पैसे उठाने के बाद छात्र ने स्कूल और कोचिंग के सभी दोस्तों को कुछ ना कुछ गिफ्ट दे दिया। छात्र ने पहले तो अपने 35 क्लासमेट को स्मार्टफोन दिलाए और फिर उसने अपने कई दोस्तों को चांदी के ब्रैसलेट भी दिलवाए। रिपोर्ट के अनुसार इन पैसों से एक दोस्त ने कार भी खरीदी। वहीं कुछ दोस्त इन पैसों से ऐश कर रहे हैं। हालांकि यह मामला पुलिस तक पहुंचने के बाद इसकी जांच चल रही है।

रिपोर्ट के अनुसार छात्र के पिता एक बिल्डर हैं। उन्होंने हाल ही में अपनी एक प्रॉपर्टी बेची थी। इस प्रॉपर्टी को बेचकर उस बिल्डर ने करीब 60 लाख रुपये अर्जित किए थे। फ्रैंडशिप डे के बाद एक दिन उन्होंने अपने पैसे चेक किए। जहां उन्हें पैसे कम होने का शक हुआ। इसके बाद उन्होंने पुलिस स्टेशन पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस को भी पहली जांच में कुछ स्पष्ट नहीं हो रहा था। हालांकि पुलिस द्वारा जांच आगे बढ़ने पर यह चौंकाने वाला खुलासा सामने आया।

पुलिस की जांच में पता चला कि बिल्डर के बेटे ने ही पैसे उठाए और दोस्तों में बांट दिए थे। छात्र के पिता ने उन सभी दोस्तों के नाम वाली लिस्ट पुलिस को सौंप दी है। पुलिस फिलहाल इस मामले में और तथ्य बाहर निकाल रही है। पुलिस का कहना है कि वो उस छात्र के सभी दोस्तों से पैसा वसूलने की कोशिश कर रहे हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर