comScore

रिश्वत के तौर पर महिला से संबंध बनाना चाहता था क्लर्क, शिकायत पर एसीबी ने दबोचा

February 28th, 2019 20:48 IST
रिश्वत के तौर पर महिला से संबंध बनाना चाहता था क्लर्क, शिकायत पर एसीबी ने दबोचा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की ठाणे इकाई ने रिश्वत के तौर पर 30 वर्षीय महिला से शारीरिक संबंध बनाने की मांग करने वाले एक क्लर्क को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी कल्याण डोंबिवली महानगर पालिका में तैनात है। महिला के बकाए संपत्तिकर में छूट देने के नाम पर आरोपी ने उससे शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाया था। गिरफ्तार आरोपी का नाम रमेशचंद्र लक्ष्मण राजपूत (48) है। वह कल्याण डोंबिवली मनपा में प्रभाग क्षेत्र ‘क’ में लिपिक (क्लर्क) के पद पर तैनात है। एसीबी के मुताबिक महिला के घर का कई सालों का टैक्स बकाया था। राजपूत ने इसके खिलाफ जब्ती के लिए आखिरी वारंट जारी किया था। मामले में महिला ने 26 फरवरी को राजपूत से मुलाकात कर मोहलत मांगी तो उसने टैक्स में छूट देने और कर भरने के लिए अतिरिक्त समय देने के ऐवज में शारीरिक संबंध बनाने की मांग की। परेशान महिला ने मामले की शिकायत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से की। इसके बाद एसीबी ने शुरूआती छानबीन कर मामले की पुष्टि की। इस बीच राजपूत ने महिला को मिलने के लिए गुरूवार दोपहर पौने एक बजे सुभाष मैदान के बागीचे में बुलाया। यहां महिला के साथ एसीबी की टीम भी पहुंची और जाल बिछाकर राजपूत को दबोच लिया। एसीबी ने राजपूत के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में संबंधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। मामले की छानबीन की जा रही है। 

यवतमाल के आर्णी में रिश्वत लेते धराया लिपिक

यवतमाल के आर्णी में एसीबी ने लिपिक को रिश्वत लेते पकड़ा। गुटविकास अधिकारी बाबासाहेब श्रीराम जी रायबोले के लिए सहायक को पांच हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया। पिछले दो वर्षों मे रिश्वतखोरी का यह चौथा मामला है। कारेगांव के ग्रामसेवक पद पर कार्यरत व्यक्ति ने ग्राम की शाला दुरुस्ती कार्य 3 लाख रूपए खर्च कर किया था। इसका बिल गुटविकास अधिकारी को परवानगी के लिए दिया गया था। सहायक गजेंद्र रायबोले ने 5 हजार रूपए की रिश्वत ली, इस दौरान उन्हें रंगे हाथों पकड़ा गया। 

Loading...
कमेंट करें
rTuZB
Loading...