comScore
Dainik Bhaskar Hindi

दूसरे दिन शिवराज ने तोड़ा उपवास, कैलाश ने पिलाया जूस

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:30 IST

1.4k
0
0
दूसरे दिन शिवराज ने तोड़ा उपवास, कैलाश ने पिलाया जूस

भोपाल. मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दूसरे दिन अपना उपवास खत्म कर दिया. एमपी के पूर्व सीएम कैलाश जोशी ने उन्हें अपने हाथों से जूस पिलाकर ये उपवास समाप्त करवाया है. सीएम शिवराज शनिवार से उपवास पर थे.

उपवास समाप्ति के बाद शिवराज से मिलने आए एक मृतक किसान के पिता ने कहा, "हमने सीएम से उपवास तोड़ने की अपील की है. ये भी कहा है कि वे हमारे बारे में सोचें और दोषियों को सजा दें. वहीं सीएम चौहान ने कहा, "किसान की मेहनत और परिश्रम को बेकार नहीं जाने दिया जाएगा. किसान को लाभकारी मूल्य देने में मध्य प्रदेश सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी. मर्जी के बिना किसान की जमीन नहीं ली जाएगी. किसान विरोध मुद्दों को ऑर्डिनेंस लाकर बदला जाएगा."

रात भर किसानों के बारे में सोचता रहा

शिवराज ने कहा, 'मैं एयर कंडीशन में रहने वाला सीएम नहीं हूं. रातभर मैं किसानों के बारे में ही सोचता रहा. मैंने हमेशा किसानों की परेशानियां दूर करने की कोशिश की है. वे हमारे लोग हैं. उनकी समस्याएं भी हमारी हैं. मैं यही सोचता हूं कि कैसे उत्पादकता बढ़ाई जाए.' उन्होंने यह भी कहा कि मारे गए किसानों के परिजन मुझसे मिले हैं और उन्होंने उपवास तोड़ने को कहा है. बता दें कि प्रदेश में हिंसक किसान आंदोलन के बीच प्रदेश में शांति के लिए चौहान ने शनिवार से यहां BHEL दशहरा मैदान पर अनिश्चितकालीन उपवास शुरू किया था.

नौटंकी है : कांग्रेस

विपक्ष ने सीएम के उपवास और दशहरा मैदान से सरकार चलाने के फैसले को महज नौटंकी करार दिया है. कांग्रेस का कहना है कि चौहान को नौटंकी करने के बजाय किसानों की समस्याओं को सुनकर उन्हें दूर करना चाहिए. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा, 'खुद को संवेदनशील मुख्यमंत्री बताने वाले चौहान छह किसानों की मौत के बाद मंदसौर नहीं गए, यहां तक कि बालाघाट में एक पटाखा फैक्टरी में हुए विस्फोट में 25 लोगों की मौत के बाद उन्होंने वहां भी जाना मुनासिब नहीं समझा. वे सिर्फ नौटंकी और मुद्दों से भटकाने की कोशिश करते रहे हैं. उपवास भी इसी का हिस्सा है.'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download