comScore
Dainik Bhaskar Hindi

दो साल बाद भी नहीं मिली फसल बीमा की राशि, कमिश्नर ने दिए निराकरण के निर्देश

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 13th, 2019 17:20 IST

987
0
0
दो साल बाद भी नहीं मिली फसल बीमा की राशि, कमिश्नर ने दिए निराकरण के निर्देश

डिजिटल डेस्क, शहडोल। कमिश्नर जेके जैन ने मंगलवार को साप्ताहिक जन सुनवाई कार्यक्रम में संभाग के दूर दराज क्षेत्रों से आए लोगों की जन सुनवाई में समस्याएं सुनी और उनके त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। ग्राम पैलवाह जनपद पंचायत गोहपारू के भैयालाल गुप्ता ने बताया कि 2017 में उसने धान की फसल का बीमा कराया गया था, लेकिल आज तक बीमा का पैसा नहीं मिला है। कृषि विभाग खाते में पैसा भेजने की बात कह रहा है, जबकि खाते में राशि आई ही नहीं है। कमिश्नर ने आवेदन को कृषि विभाग की ओर भेजकर त्वरित निराकरण के निर्देश दिए।

रतनलाल सोनी वार्ड नं. 15 बुढ़ार ने आवेदन देकर बताया कि एसडीएम सोहागपुर ने कैलाश कुमार सिंधी वार्ड नं. 9 का गलत जाति प्रमाण-पत्र बनाया है। यह प्रमाण-पत्र पंजी में दर्ज नहीं है। इसकी जांच के लिए मानव अधिकार आयोग को शिकायत भेजी गई थी। वहां से एक सप्ताह में कार्रवाई के लिए कहा गया था, लेकिन पांच माह बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कमिश्नर ने आवेदन कलेक्टर शहडोल को भेजकर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। भुईबांध के निवासियों ने वार्ड 31 में स्थित खेरमाई मंदिर से लगे तालाब पर अन्नू उर्फ राजेश गुप्ता द्वारा अतिक्रमण करने की शिकायत की। कमिश्नर द्वारा तुरन्त कार्रवाई करने के निर्देश कलेक्टर को दिए गए हैं।

पैसे मांगता है रोजगार सहायक
ग्राम दरैन जनपद पंचायत जयसिंहनगर के सरपंच लोकनाथ सिंह ने आवेदन देकर रोजगार सहायक शितलेश गुप्ता की शिकायत करते हुए बताया कि रोजगार सहायक अपने बड़े भाई के आरती ट्रेडर्स के नाम से बिल देकर दवाब बनाकर भुगतान करवाता है। साथ ही हितग्राहियों से पैसे की मांग करता है। आयुक्त ने प्रकरण की जांच कलेक्टर को करने तथा रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। इसी प्रकार कमिश्नर को भूमि संबंधी प्रकरण, गरीबी रेखा में नाम जोडऩे सहित अन्य आवेदन ग्रामवासियों ने दिए जिनके निराकरण हेतु संबंधित अधिकारियों को अग्रेषित किया गया।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download