comScore

नौवी-दसवीं के परीक्षा मूल्यांकन में बदलाव के लिए बनी कमेटी, 10 दिनों में सरकार को सौंपेगी रिपोर्ट

नौवी-दसवीं के परीक्षा मूल्यांकन में बदलाव के लिए बनी कमेटी, 10 दिनों में सरकार को सौंपेगी रिपोर्ट

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शैक्षणिक वर्ष 2019-20 से कक्षा 9 वीं से 12 वीं के विषय संरचना व मूल्यांकन पद्धति में बदलाव के लिए प्रदेश के शिक्षा आयुक्त विशाल सोलंकी की अध्यक्षता में समिति गठित की गई है। समिति को 10 दिनों में सरकार को रिपोर्ट देना होगा। मंगलवार को प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री आशीष शेलार ने यह जानकारी दी। शिक्षा विभाग ने इस संबंध में शासनादेश भी जारी किया है। महाराष्ट्र बोर्ड के कक्षा 10 वीं के विद्यार्थियों को भाषा तथा समाजशास्त्र विषय में दिए जाने वाले 20 अंतर्गत अंक (इंटरनल मार्क) को इस बार खत्म कर दिया गया है। इसकी वजह से 2019 के परीक्षा परिणाम में गिरावट आई है। इससे विद्यार्थियों को कक्षा 11 वीं में दाखिले के लिए काफी परेशानी हुई। अब सरकार को इस मामले के अध्ययन के लिए यह समिति बनानी पड़ी है। 

स्कूल से मिलने वाले इंटरनल मार्क का मामला 

शासनादेश के अनुसार राज्य बोर्ड का अंतर्गत मूल्यांकन बंद कर दिया गया है लेकिन सीबीएसई, आईसीएसई और दूसरे बोर्डों के विद्यार्थियों का अंतर्गत मूल्यांकन शुरू है। इस कारण अंतर्गत मूल्यांकन और विषय संरचना के बारे में पुनर्विचार करने की आवश्यकता है। इसलिए शिक्षा आयुक्त की अध्यक्षता में समिति बनाई गई है। इस समिति की रिपोर्ट आने के बाद अगली कार्यवाही की जाएगी। शिक्षा आयुक्त की अध्यक्षता वाली समिति में अफसरों और  विशेषज्ञों को शामिल किया गया है। इस समिति में विद्या प्राधिकरण के निदेशक, स्कूली शिक्षा विभाग के सहसचिव, माध्यमिक शिक्षा निदेशक, बालभारती के निदेशक और राज्य बोर्ड के अध्यक्ष सदस्य के रूप में शामिल किए गए हैं। इसके अलावा समिति में नागपुर के सेंट जोसेफ कनिष्ठ महाविद्यालय की मनीषा महात्मे समेत उच्च माध्यमिक के 12 कॉलेजों और माध्यमिक के 11 स्कूलों के प्रतिनिधियों को सदस्य बनाया गया है। 

कमेंट करें
pBIM1