comScore

MP चुनाव : जीत-हार का गणित शुरू, कमलनाथ ने 6 दिसंबर को बुलाई प्रत्याशियों की बैठक

MP चुनाव : जीत-हार का गणित शुरू, कमलनाथ ने 6 दिसंबर को बुलाई प्रत्याशियों की बैठक

हाईलाइट

  • कमलनाथ ने 6 को बुलाई प्रत्याशियों की बैठक
  • शिवराज सिंह 11 को करेंगे प्रत्याशियों से चर्चा
  • एमपी में मतदान के बाद परिणाम की रणनीति बनाने में जुटे सियासी दल

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2018 के लिए मतदान समाप्त हो चुका है लेकिन सियासी घमासान जारी है। मतदान के बाद अब कांग्रेस-भाजपा के दिग्गज नेता जीत-हार का सियासी गणित समझने की कोशिश कर रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली पहुंचकर राहुल गांधी से मुलाकत की, कमलनाथ ने 06 दिसंबर को पार्टी के सभी 230 प्रत्याशियों की बैठक भी भोपाल में बुलाई है। वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दिल्ली में अमित शाह को मतदान का फीडबैक दिया है। इसी तरह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष  सिंह से फीडबेक लिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सभी उम्मीदवारों से फ़ोन पर बात की। 

कांग्रेस प्रत्याशियों की बैठक

पीसीसी चीफ कमलनाथ ने 6 दिसंबर को भोपाल में पार्टी के सभी प्रत्याशियों की बैठक बुलाई है। मतगणना में किसी भी तरीके की गड़बड़ी ना हो,इसके लिए कांग्रेस ने विशेष प्लान बनाया है। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने 6 दिसंबर को भोपाल में बैठक बुलाई है, जिसमें प्रत्याशियों को मतगणना में गड़बड़ी रोकने की ट्रेनिंग दी जाएगी। इस बैठक में सभी प्रत्याशियों से उनके क्षेत्र में हुए मतदान का फीडबैक लिया जाएगा। साथ ही परिणाम वाले दिन यानी 11 दिसंबर के लिए भी रणनीति बनाई जाएगी। वहीं पार्टी के आला नेता परिणाम वाले दिन सुबह से लेकर शाम तक की विस्तृत रूपरेखा प्रत्याशियों के साथ मिलकर तैयार करेंगे। 

संगठन मंत्रियों से लिया फीडबैक 


सीएम शिवराज सिंह चौहान चुनाव प्रचार के दौरान सर्वाधिक सीटों तक पहुंचने वाले नेता रहे, उन्होने मतदान के बाद थोड़ा आराम किया और फिर परिणामों को लेकर रणनीति बनाने में जुट गए। वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने महाकौशल, विंध्य, मालवा समेत सभी क्षेत्रों का फीडबैक पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को दिया है। इसके पहले सभी संगठन मंत्रियों से भी बात की गई थी। गुरुवार को बीजेपी और कांग्रेस के दो दिग्गज नेता बाबूलाल गौर और आरिफ अकील ने मुलाकात की। इस दौरान गौर ने आरिफ अकील को परिणाम आने से पहले ही जीत की बधाई तक दे डाली। गौर और अकील की इस मुलाकात ने एक बार फिर सियासत को गरमा दिया है। इस दौरान गौर ने अकील से कहा, कांग्रेस की सरकार आ रही है और आप मंत्री बन रहे हैं। इस पर अकील ने जवाब दिया की उन्हें मंत्री पद की लालसा नहीं। जैसे अब तक वह रहते आए हैं आगे भी वैसे ही रहेंगे। उन्होंने कहा, मरने के बाद तो सबको मिट्टी में ही मिलना है। गौर ने अकील से ये भी कहा कि 'आपकी पार्टी ने हमारी बहुत मदद की, नहीं तो टिकट नहीं मिलती, लेकिन आख़िरकार हमारी बहु को टिकट मिल गया।

कमेंट करें
QDHBm