comScore

कर्नाटक : दो कांग्रेस MLA के बीच मारपीट, एक अस्पताल में भर्ती, पार्टी ने कहा सीने में दर्द

January 21st, 2019 13:24 IST
कर्नाटक : दो कांग्रेस MLA के बीच मारपीट, एक अस्पताल में भर्ती, पार्टी ने कहा सीने में दर्द

हाईलाइट

  • कर्नाटक में इन दिनों सियासी उथल-पुथल मची हुई है।
  • इस सबके बीच विजयनगर विधायक आनंद सिंह और कम्पी विधायक जेएन गणेश के बीच ये मारपीट की खबर है।
  • इस विवाद में आनंद सिंह को चोट लगी है जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। कर्नाटक में इन दिनों सियासी उथल-पुथल मची हुई है। इस सबके बीच अब कांग्रेस के दो विधायकों में मारपीट की खबर है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि बेंगलुरु के ईगलटन रिजॉर्ट में ठहरे विजयनगर विधायक आनंद सिंह और कम्पी विधायक जेएन गणेश के बीच ये मारपीट हुई है। इस मारपीट में आनंद सिंह को सिर में चोट लगी है जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि जेएन गणेश ने आनंद सिंह पर बोतल से हमला किया था। हालांकि पार्टी की तरफ से इन खबरों को झूठा बताते हुए कहा जा रहा है कि आनंद सिंह को सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कर्नाटक के डिप्टी सीएम जी परमेश्वर ने कहा कि 'मैंने यह बात मीडिया के जरिए सुनी है। मैं वहां शनिवार को आठ बजे तक था। मुझे नहीं पता कि वहां क्या हुआ। वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता डी के शिवकुमार का कहना है कि 'मुझे आनंद सिंह और जेएन गणेश के बीच हाथापाई की जानकारी नहीं है। सीने में दर्द की वजह से आनंद सिंह को अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। उन्हें कोई चोट नहीं लगी है। उनके माता-पिता भी अस्पताल में मौजूद हैं। बाकी सभी बातें अफवाह हैं।' 

उधर बीजेपी ने कहा कि 'हमें और क्या प्रमाण देने की जरूरत है कि कांग्रेस के भीतर सब ठीक नहीं है। ईगलटन रिसॉर्ट में कांग्रेस विधायक मारपीट कर रहे हैं और एक विधायक भर्ती है। कब तक कांग्रेस डिनायल मोड में रहेगी और बीजेपी को उनके सभी मतभेदों के लिए दोषी ठहराएगी? जब राजनीतिक पार्टी लंगड़ी होती है, तो उसे दोष देना पसंद होता है।' बीजेपी ने ये भी कहा कि 'जेडीएस सरकार में कांग्रेस विधायक को जान का खतरा है। सिद्धारमैया बहुत उपदेश देते हैं। अब उन्हें आनंद सिंह पर हमले के जिम्मेदार पार्टी विधायक को तत्काल निलंबित करना चाहिए।'

बीजेपी विधायक आर अशोक ने कहा कि डीके शिवकुमार और डीके सुरेश झूठ बोलकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों को बाहर आना चाहिए और इस बारे में स्पष्टीकरण देना चाहिए कि क्या आनंद सिंह को सीने में दर्द के इलाज के लिए भर्ती कराया गया है या कुछ और। पुलिस को आत्महत्या का मामला दर्ज करना चाहिए और जांच करनी चाहिए।

कमेंट करें
8p9E2