comScore

UP: 'न्याय' योजना पर बोले राहुल, 'अंबानी की जेब से निकालकर गरीब को देंगे पैसा'

UP: 'न्याय' योजना पर बोले राहुल, 'अंबानी की जेब से निकालकर गरीब को देंगे पैसा'

हाईलाइट

  • कांग्रेस आज से उत्तर प्रदेश में 'न्याय यात्रा' की शुरुआत करेगी।
  • प्रियंका, राहुल और ज्योतिरादित्य सिंधिया आगरा में मौजूद।

डिजिटल डेस्क, आगरा। लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी आज से उत्तर प्रदेश में 'न्याय यात्रा' की शुरुआत करेगी। आगरा के फतेहपुर सीकरी से न्याय यात्रा को हरी झंडी दिखाई जाएगी। इसके लिए पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्वी उत्तर प्रदेश महासचिव-प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया बाह के मंडी समिति मैदान में मौजूद हैं। इस दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्याय योजना पर बात की। राहुल ने कहा- वह अंबानी की जेब से पैसा निकालकर गरीबों को देंगे। 

राहुल गांधी ने कहा, हमने "न्याय" योजना की बात की, तो मोदी जी ने कहा ये पैसा मध्यम वर्ग से आएगा। मैं बता देता हूं कि ये पैसा मध्यम वर्ग से नहीं बल्कि अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी की जेब से आएगा और गरीब की जेब में जाएगा। न्याय योजना का पैसा परिवार की महिला के खाते में जाएगा। 

फतेहपुर सीकरी में पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 लाख का वादा किया था, उसका क्या हुआ? युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, उसका क्या हुआ? पिछले चुनाव के दौरान उन्होंने गरीब-किसान-नौजवान के लिए अच्छे दिन का नारा दिया था और आज उनके लिए चौकीदार चोर है का नारा दिया जा रहा है। पांच सालों में उनका यही सफर है।

पीएम ने झूठा वादा किया-राहुल
राहुल ने कहा, मैं पीएम मोदी की तरह 15 लाख देने का झूठा वादा तो नहीं करुंगा, लेकिन 72 हजार रुपयों का वादा जरूर करता हूं। कांग्रेस सरकार साल के 72 हजार रुपये और पांच साल में 3 लाख 60 हजार रुपये देगी। देश के 25 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे और 5 करोड़ लोगों के अकाउंट में सीधा पैसा जाएगा। राहुल ने आगे कहा, आप जहां कहीं भी देखें, प्रधानमंत्री का ही प्रचार हो रहा है। टीवी खोलिए तो नरेंद्र मोदी, रेडियो खोलिए तो नरेंद्र मोदी, सड़क पर चलिए तो नरेंद्र मोदी। मैं पूछता हूं कि पब्लिसिटी के लिए इतना पैसा आता कहां से आता है। 

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा। प्रियंका ने कहा, वो खुद को राष्ट्रवादी कहते हैं। अगर आप राष्ट्रवादी हैं, तो देश के सारे शहीदों का सम्मान कीजिए, विपक्ष के नेता के शहीद पिता का भी सम्मान कीजिए। अगर आप राष्ट्रवादी हैं, तो पाकिस्तान की नहीं, हिंदुस्तान की बात कीजिए। अगर आप राष्ट्रवादी हैं, तो नंगे पांव चलकर आपके दरवाजे तक आने वाले किसानों से क्यों नहीं मिले। आपके साथी ने किसी महिला के खिलाफ बयान दिया, तो आपने उसे इस देश की तहज़ीब क्यों नहीं सिखाई। उस लोकतंत्र का आदर क्यों नहीं करते, जिनके कारण आपको सत्ता मिली।

मोदी सरकार के काम की सच्चाई युवाओं-किसानों के चेहरे पर दिख रही
प्रियंका ने कहा, भाजपा के प्रचार को देखकर आपको लगता होगा कि 5 सालों में पता नहीं कितना काम हुआ है। लेकिन सच इससे अलग है। इनके काम की सच्चाई बेरोजगार युवाओं, लाचार किसानों के चेहरों पर दिखाई देती है। इस सरकार को न लोकतंत्र पर गर्व है, न संस्थाओं पर और न ही हमारी जनता पर। अगर ये असली राष्ट्रवादी होते तो, ये सत्य के मार्ग को पकड़ते। जो सत्य से भटक जाता है, ये देश उसे माफ नहीं करता, आपको भी नहीं करेगा। क्योंकि, आप सत्य से भटक गए हैं।

दरअसल उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव में पूरी ताकत झोंक रही कांग्रेस अपनी महत्वाकांक्षी 'न्यूनतम आय योजना' (न्याय) के वादे को गांव-गांव और घर-घर तक पहुंचाने के लिए 'न्याय यात्रा' निकाल रही है। 'न्याय यात्रा' का यह कार्यक्रम कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा की योजना का हिस्सा है। यह यात्रा राज्य के उन सभी संसदीय क्षेत्रों में निकाली जाएगी जहां अगले छह चरणों में चुनाव हो रहे हैं।

बता दें कि आगरा के फतेहपुर सीकरी से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर चुनाव लड़ रहे हैं। कई संसदीय क्षेत्रों में खुद प्रियंका भी इस यात्रा में शामिल हो सकती हैं। दरअसल, अब लोकसभा चुनाव के छह चरणों की वोटिंग बाकी है। पहले चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर 11 अप्रैल को वोट डाले गए। पार्टी की ओर से तय कार्यक्रम के मुताबिक हर क्षेत्र में चुनाव प्रचार खत्म होने तक यह 'न्याय यात्रा' चलेगी और इसमें सबंधित क्षेत्र के सभी प्रमुख नेता, कार्यकर्ता, युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई और सेवा दल के लोग शामिल होंगे।

न्याय यात्रा के तहत जमीनी स्तर पर छोटी-छोटी सभाएं की जाएंगी, पर्चे बांटे जाएंगे और जन संवाद कार्यक्रमों के आयोजन होंगे। इसके साथ ही इस यात्रा के प्रचार-प्रसार के लिए सोशल मीडिया अभियान भी चलाया जाएगा। इसमें भारतीय युवा कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम और प्रदेश संगठन के लिए कार्यरत सोशल मीडिया टीम प्रमुख जिम्मेदारी निभाएंगी। गौरतलब है कि कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणापत्र में वादा किया है कि सरकार बनने पर 'न्याय' के तहत देश के पांच करोड़ सबसे गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए दिए जाएंगे।
 

कमेंट करें
7vyhp