comScore

मेघालय: गवर्नर को चिट्ठी सौंप कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा

March 04th, 2018 16:45 IST
मेघालय: गवर्नर को चिट्ठी सौंप कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा

डिजिटल डेस्क, शिलांग। मेघालय में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बावजूद कांग्रेस बहुमत हासिल करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। कांग्रेस को मेघालय में सबसे ज्यादा 21 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस का हाईकमान भी अब एक्टिव हो गया है। देर रात मेघालय कांग्रेस के अध्यक्ष विंसेंट पाला और कांग्रेस के महासचिव सीपी जोशी ने राज्यपाल गंगा प्रसाद से मुलाकात की। इसके साथ ही कांग्रेस की तरफ से सरकार बनाने की दावेदारी वाला लेटर भी सौंपा।

इस लेटर में कहा गया है कि कांग्रेस पार्टी राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर बनकर उभरी है। संवैधानिक नियमों के अनुसार कांग्रेस को जल्द से जल्द सरकार बनाने के लिए निमंत्रण दिया जाना चाहिए। विधानसभा में तय दिन और समय के अनुसार पार्टी बहुमत सिद्ध कर देगी। कांग्रेस को यहां सरकार बनाने के लिए गठजोड़ की राजनीति से होकर गुजरना है।

कांग्रेस नहीं दोहराना चाहती गलती

कांग्रेस के रणनीतिकार और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बीच मेघालय में सेमीफाइनल मैच हुआ। सूत्र बताते हैं कि भाजपा अध्यक्ष ने जहां मेघालय में सरकार बनाने का संकेत दिया, वहीं कांग्रेस की तरफ से अहमद पटेल ने भी तुरुप का इक्का चला। अहमद पटेल यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के निर्देश पर मेघालय में ही रहे। कांग्रेस वरिष्ठ नेता कमल नाथ भी मेघालय में ही उनके साथ थे। माना जा रहा था कि कांग्रेस मेघालय में गोवा और मणिपुर वाली गलती दोहराने के मूड में नहीं है।


राज्यपाल को सौंपी चिठ्ठी


बता दें कि मुकुल वासनिक पहले से मेघालय को लेकर सक्रिय थे। अहमद पटेल और कमल नाथ के सक्रिय होने के बाद वहां चल रही राजनीतिक हलचल के तेज हो जाने के आसार पहले ही लगाए जा रहे थे। चना मिल रही थी कि शीघ्र ही कांग्रेस के नेता 32 विधायकों के समर्थन का दावा लेकर राज्यपाल से मिलने की तैयारी करेंगे तो देर रात ऐसी खबर आ ही गई। मेघालय में 9 साल से कांग्रेस की सरकार है। हालांकि इस बार विधानसभा चुनाव में पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। मेघालय में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बन रही है। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस जैसी दोनों राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियां जोड़-तोड़ के लिए पूरी ताकत झोंकने में जुट गई है। कांग्रेस ने अपने दावे की चिट्ठी राज्यपाल को सौंप दी है। 

किसको मिली कितनी सीटें

मेघालय में कांग्रेस पार्टी 21 सीटों के साथ सबसे बड़े राजनीतिक दल के रूप में है। 
दूसरे नंबर पर नेशनल पीपुल्प पार्टी 19 सीटों के साथ है। 
भारतीय जनता पार्टी को 02 सीटें मिली हैं। 
एचएसपीडीपी को दो सीटे मिली हैं।
यूडीपी को 6, पीडीएफ को 4 और 11 निर्दल विधायकों को सफलता मिली है। 

32 विधायकों का समर्थ

वहीं कांग्रेस के नेताओं का दावा है कि उनके पास 32 विधायकों का समर्थन है। इनके सहयोग से वह राज्य में सरकार का गठन करने जा रहे हैं। बीजेपी से पहले ही कांग्रेस नेतृत्व ने वरिष्ठ नेता कमलनाथ और अहमद पटेल को शिलांग भेज दिया है। शिलांग पहुंचते ही अहमद पटेल ने कहा कि हम यहां सरकार बनाने आए हैं। इस क्रम में मेघालय कांग्रेस के नेताओं के साथ केंद्रीय नेतृत्व शिलांग में बैठक कर रहा है। साफ है कि कांग्रेस अगर कुछ निर्दलीय या छोटे दलों के विधायकों को अपने साथ लाने में सफल होती है तो वह राज्य में अपनी सत्ता बचा सकती है। ऐसे में जो भी पहले निर्दलीय या छोटे दलों को अपने खेमे में मिला लेगा। वही मेघालय में सरकार बना पाएगा।

कमेंट करें
H7YQ4