comScore

पुराने शहर को स्मार्ट बनाने खर्च किए जाएंगे 150 करोड़

पुराने शहर को स्मार्ट बनाने खर्च किए जाएंगे 150 करोड़

डिजिटल डेस्क, सतना। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल सतना के पुराने शहर का भी कायाकल्प किया जाएगा। इसके लिए प्रथम स्तर पर 150 करोड़ रुपए खर्च किए जाने की कार्य योजना है। तीन कामों के टेंडर भी जारी कर दिए गए हैं। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत नया शहर बसाने के लिए सोनौरा में 662 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है। इस क्षेत्र में निर्माण कार्य शुरू किए जाने की प्रक्रिया जारी है। सूत्रों की माने तो यहां पर अभी शुरूआती दौर में 765 करोड़ खर्च किए जाने की योजना है। बघेलखंड आर्ट एवं क्राफ्ट सेंटर और लेक नेक्टर झील निर्माण के लिए टेंडर भी जारी किए जा चुके थे। इन दोनों कामों की तैयार की गई डिजाइन में परिवर्तन किए जाने से कुछ समय बाद फिर टेंडर जारी किए जाएंगे।

हाईटेक होंगे स्कूल और चौराहा 
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल किए गए सतना के पुराने शहर को भी फायदा मिलेगा। यहां के स्कूल, चौराहा और यातायात व्यवस्था को स्मार्ट बनाया जाएगा। इस पर काम भी शुरू हो गया है। इंटलीजेंट ट्राफिक सिस्टम (आईटीएमएस) का कार्य टेक्रोसिस भोपाल और स्मार्ट स्कूल बनाने के लिए एक्सट्रामाक्र्स और व्हीएनएन को काम दिया गया है। इस कार्य में 48 करोड़ की राशि खर्च होंगे। 

स्कूल और क्लास रूम की रिपेयरिंग में सवा करोड़ 

स्कूलों को स्मार्ट बनाने से पहले क्लास रूम की रिपेयरिंग कराई जाएगी। इसके लिए 1 करोड़ 25 लाख खर्च होंगे। ठेकेदार भी नियुक्त कर दिया गया है। आने वाले दिनों में चिन्हित किए गए स्कूलों की रिपेयरिंग का काम शुरू हो जाएगा। 

जाने पुराने शहर में कितने की लागत से क्या होंगे काम 

- इंटलीजेंट ट्राफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस)- 36.34 करोड़
- स्मार्ट स्कूल एवं क्लास प्रथम चरण - 12 करोड़
- स्मार्ट स्कूल एवं क्लास द्वितीय चरण - 33करोड़
- यूटीलिटी एवं इंवायरमेंट मैनेजमेंट - 63.02 करोड़
- स्मार्ट पार्किंग - 1.96 करोड़
-रिपेयर एवं मेंटीनेंस स्कूल - 1.25 करोड़
- चौराहा-तिराहा का सौंदर्यीकरण - 2.49 करोड़
- स्मार्ट एलईडी लाइट - 20 करोड़
- यूनिवर्सल पेमेंट कार्ड - 6 करोड़

कमेंट करें
GYyeI