comScore
Dainik Bhaskar Hindi

देश को तीन ओर से घेर रहा तूफान, ‘तितली’ से विदर्भ में भी छा सकते हैं बादल

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 11th, 2018 00:39 IST

2.5k
0
0
देश को तीन ओर से घेर रहा तूफान, ‘तितली’ से विदर्भ में भी छा सकते हैं बादल

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान तितली बुधवार को आंध्र और ओडीशा तट की ओर बढ़ चला है। इसके प्रभाव से वहां तो मूसलाधार वर्षा और तेज हवाओं की संभावना है। लेकिन इसका कुछ प्रभाव विदर्भ पर भी पड़ने की संभावना है। गड़चिरोली की ओर कुछ बौछारें आ सकती हैं। लेकिन उपराजधानी को बादलों के घेरे से ही संतोष करना पड़ेगा। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार रात 2 डिग्री तक पारा गिरा। न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री नीचे 18.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

अधिकतम तापमान में भी हल्की सी गिरावट रही, लेकिन अभी भी यह सामान्य से ऊपर बना हुआ है। बुधवार को अधिकतम तापमान 34.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 1 डिग्री ऊपर रहा। नमी पूरे दिन लगभग एक सी बनी रही। आर्द्रता अधिकतम और न्यूनतम 76 प्रतिशत दर्ज हुई। अनुमान है कि बुधवार और गुरुवार की मध्य रात्रि से ही मेघों का प्रवेश विदर्भ में शुरू हो जाएगा। इसका असर अगले 2-3 दिन रहने के आसार हैं।
 
एक ओर लुबान दूसरी ओर तितली और शीश पर पश्चिमी विझोभ

देश में बुधवार को एक दुर्लभ घटना देखने को मिली। मौसम जानकारों के अनुसार यह विश्व के मौसम विज्ञान क्षेत्र में यह रेयरेस्ट ऑफ रेयर घटनाओं के अंतर्गत आता है। यह कभी-कभार ही होता है कि किसी देश के तीन ओर से तूफान ने घेर रखा हो। बुधवार को भारत तीन ओर से तूफान से घिरा है। यह विश्व की दुर्लभ घटना में से एक है। भारत के पश्चिमी तट पर अरब सागर में तूफान लुबान जबकि पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी में तितली सक्रीय है। उत्तर में कश्मीर और हिमालय पर पश्चिमी विझोभ का प्रभाव है। मौसम जानकारों के अनुसार इस घटना का विश्व में बड़े पैमाने पर अध्ययन संभव है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर