comScore

हिना कावरे को नक्सलियों ने दी थी धमकी, हादसे में 3 सुरक्षाकर्मियों सहित 4 की मौत

February 04th, 2019 11:20 IST

हाईलाइट

  • प्राइवेट ड्राइवर की भी मौत
  • निजी कार्यक्रमों मे शामिल होने गई थीं बालाघाट
  • रविवार देर रात लौट रही थीं किरनापुर

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश की विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कावरे के काफिले के साथ हुए हादसे को नक्सली कनेक्शन से भी जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, कुछ दिनों पहले नक्सलियों ने उन्हें धमकी भरा पत्र भेजा था, जिसमसें 14 जनवरी तक बड़ा हमला करने की बात कही गई थी। हिना के साथ हुए हादसे में 3 पुलिसकर्मियों सहित 4 लोगों की मौत हो गई, हालांकि कावरे बाल-बाल बच गई हैं।

हादसा रविवार देर रात हुआ, घटना में एक सब इंस्पेक्टर, एक हेड कांस्टेबल, एक कांस्टेबल के साथ ही एक प्राइवेट ड्राइवर की मौत हो गई है। दरअसल, विस उपाध्यक्ष हिना कावरे कुछ निजी कार्यक्रमों में शामिल होने बालाघाट पहुंची थीं, जहां से रविवार देर रात वो किरनापुर (अपने ग्रह ग्राम) लौट रही थीं, तभी बालाघाट से तकरीबन 16 किलोमीटर दूर ग्राम सालेटेका में सड़क दुर्घटना हो गई।

बता दें कि विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कावरे को कुछ दिन पहले ही नक्सलियों का धमकी भरा पत्र मिला था, जिसमें उनसे 20 लाख की फिरौती मांगी गई थी। इसकी डेडलाइन 14 जनवरी दी गई थी। धमकी दी गई थी कि पैसे नहीं पहुंचने पर 16 जनवरी को बड़ी घटना को अंजाम दिया जाएगा। इसकी शिकायत हिना कावरे ने पुलिस अधीक्षक बालाघाट से की थी। इसके बाद हिना की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई थी। हिना ने इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की बात कही है। आपको बता दें कि हिना के पिता लिखीराम कावरे कि नक्सलियों ने निर्मम हत्या कर दी थी। कावरे दिग्विजय सिंह के शासनकाल में केबिनेट मंत्री थे।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं। इस मामले में हिना कावरे ने बताया कि उन्हें 3 जनवरी और 12 जनवरी को धमकी भरे पत्र मिले थे। 3 जनवरी को मिले पत्र की शिकायत उन्होंने प्रभारी पुलिस अधीक्षक को दी गई थी।

पुलिस अधीक्षक जयदेवन के अनुसार हिना कावरे को पहला पत्र बीते दिसंबर माह की 31 तारीख को प्राप्त हुआ था। इसके बाद दूसरा धमकी भरा खत 10 जनवरी को प्राप्त हुआ,जिसकी जानकारी विधानसभा अध्यक्ष द्वारा 12 जनवरी को दी गई। पुलिस अधीक्षक के ऐसा प्रतीत होता है कि अनुसार पत्र बालाघाट से ही किसी असामाजित तत्व द्वारा पोस्ट किया गया है। हालांकि मामले की नाजुकता को देखते हुए उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

हादसे में इनकी मौत 

1. उपनिरीक्षक हर्षवर्धन सोलंकी 30, पिता मान सिंह सोलंकी निवासी कालापीपल जिला शाजापुर हाल थाना लांजी बालाघाट

2. प्रधान आरक्षक हामिद शेख 50, पिता मोहम्मद हबीब शेख निवासी वार्ड नंबर 13 गंगा नगर, बालाघाट

3. आरक्षक राहुल कोलारे, पिता लेखराम कोलारे ग्राम चरगांव, छिन्दवाड़ा

4. (प्राइवेट ड्राइवर) सचिन 22, पिता बृजलाल सहारे निवासी नेवारा, किरनापुर

कमेंट करें
80ZjW