comScore

आंखों के सामने अंधेरा छा जाना हो सकता है गंभीर बीमारी का संकेत 

September 02nd, 2018 10:34 IST


डिजिटल डेस्क । कभी-कभी हमें सब कुछ ठीक होते हुए भी अचानक घबराहट होने लगती है, सर घूमता और आखों के सामने अंधेरा छाने लगता है। ये सभी ऐसी स्थिति होती जब इंसान समझ नहीं पाता कि आखिर उसे हो क्या रहा है और जब हालत नॉर्मल होती है तो हम ये कहते हुए इसे इग्नोर कर देते हैं कि 'ऐसे ही चक्कर आ गया था', लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये सब अवॉइड करना काफी खतरनाक हो सकता है। दरअसल जब भी हमारी आंखों के आगे अचानक अंधेरा होना, चक्कर आना, बाहरी दृश्य हिलते हुए, घूमते हुए या उल्टे सीधे नजर आना, ऐसी कई समस्याएं हैं, जिनका सीधा संबंध हमारी आंखों से होता है। कई बार ऐसा होता है कि एकाएक खड़े होने, झुकने या तेजी से घूम जाने पर आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब कभी दिमाग में खून की मात्रा पूर्ण रूप से नहीं पहुंचती तो दिमाग की नसें शिथिल पड़ जाती हैं। यही शिथिलता चक्कर का कारण होती है। आइए जानते हैं कि ये हमारे शरीर को किस तरह से नुकसान पहुंचा सकती हैं। 

जानिए और क्या होती हैं वजह?

- शरीर का किसी बीमारी से ग्रसित होना, कमजोरी और थकावट होना, क्षमता से अधिक शरीर से काम लेना।

- आंसू न बनने के कारण आंखों में हुए सूखेपन की वजह से आंखों के सामने धुंधलापन आ जाता है।

- शरीर में खून की कमी होने पर न सिर्फ हमें कमजोरी महसूस होती है बल्कि अनेक रोगों, रोग कारकों से लड़ने क्षमता में भी काफी गिरावट आती है।

- आंखों के लिए आवश्यक प्रोटीन्स और विटमिन्स की कमी हो जाने की वजह से भी आंखों के सामने अंधेरा छाता है।

ऐसे करें इसका इलाज

हरी सब्जी खाएं- हरी पत्तेदार सब्जियों में विटमिन ए व अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आंखो की रोशनी बढ़ाने में सहायक है। जब भी आंखों से संबंधित समस्या होने लगे तो हरी सब्जियों को खाना शुरू कर दें। इससे आंखों की रोशनी बढ़ने लगेगी।

दूध में घी डालकर पिएं- हर दिन 1 गिलास दूध में एक चम्मच घी डाल कर पिएं। साथ ही हर दिन सुबह-सुबह 2 बादाम को चबा-चबाकर खाएं। ध्यान रखें कि बादाम को रातभर में पानी में भिगोकर रखना है।

अंकुरित अनाज खाएं- अपने सोने और जगने का समय फिक्स करें औऱ जहां तक संभव हो रात को जल्दी सोएं और सुबह जल्दी उठें। साथ ही हर दिन अंकुरित अनाज का नाश्ता करें। इसके अलावा तुलसी के रस में चीनी या शहद मिलाकर सेवन करने से भी चक्कर आना बंद हो जाता है।

ताजे फल खाएं- दोपहर के भोजन के 2 घंटे पहले और शाम के नाश्ते में फलों का सादा जूस पिएं। आप चाहें तो जूस की जगह ताजे फल भी खा सकते हैं।

लौंग का पानी पिएं- आधा गिलास पानी में 2 लौंग डालकर उसे उबाल लें और फिर उस पानी को पिएं। इसे रोज पीने से लाभ होता है। इसके अलावा 20 ग्राम मुनक्का घी में भूनकर सेंधा नमक के साथ खाने से चक्कर आना बंद हो जाता है।

कमेंट करें
fUbKy