comScore

Video: बाउंसर लगने पर तड़पता रहा बैट्समैन, किसी ने नहीं की मदद

September 25th, 2018 19:13 IST
Video: बाउंसर लगने पर तड़पता रहा बैट्समैन, किसी ने नहीं की मदद

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इस बार की रणजी ट्रॉफी का खिताब विदर्भ की टीम ने अपने नाम कर लिया। विदर्भ ने 7 बार की चैंपियन रही दिल्ली की टीम को फाइनल में 9 विकेट से हराकर पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता। इस मैच में विदर्भ के हीरो रहे रजनीश गुरबानी, जिन्होंने इस फाइनल में 59 रन दिए और 6 विकेट लिए, जिसमें एक 'हैट्रिक' भी शामिल है। इस बीच इस फाइनल मुकाबले का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसने क्रिकेट जैसे खेल को शर्मसार तो किया है, साथ ही इंसानियत को भी शर्मसार कर दिया। दरअसल, इस वीडियो में बाउंसर लगने के बाद विदर्भ का बैट्समैन तड़पता दिखाई दे रहा है, लेकिन उसकी मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया।

बैट्समैन तड़पता रहा, किसी ने ध्यान नहीं दिया

दरअसअ, इंस्टाग्राम पर bleed.dhonism नाम के पेज पर विदर्भ और दिल्ली के बीच हुए रणजी ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले का एक वीडियो शेयर किया गया है। इस वीडियो में विदर्भ की टीम बैटिंग कर रही है और दिल्ली बॉलिंग। वीडियो में बाउंसर की वजह से विदर्भ के बैट्समैन अक्षय वाडकर वहीं गिर जाते हैं और तड़पने लगते हैं। अक्सर ऐसे मौकों पर दोनों टीमों के खिलाड़ी एकजुट हो जाते हैं, लेकिन यहां ऐसा नहीं हुआ। जब बाउंसर उस बैट्समैन को लगी, तो वो वहीं गिर गया। उस बैट्समैन पर न ही बॉलर ने ध्यान दिया और न ही दिल्ली के किसी खिलाड़ी ने। हालांकि, नॉन-स्ट्राइकिंग एंड पर खड़े बैट्समैन ने ड्रेसिंग रूम की तरफ इशारा कर मेडिकल हेल्प मांगी, लेकिन दिल्ली के किसी भी खिलाड़ी ने कोई मदद नहीं की और अपनी-अपनी फील्ड पर खड़े हो गए। यहां तक कि अंपायर ने भी कोई मदद नहीं की। बता दें कि उस वक्त कुलवंत खेजरोलिया बॉलिंग कर रहे थे।

पहली बार जीती है विदर्भ की टीम

रणजी ट्रॉफी के इतिहास में विदर्भ की टीम इससे पहले कभी फाइनल तक में भी नहीं पहुंची थी। विदर्भ पहली बार फाइनल में पहुंचा और जीत भी गया। इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले गए इस फाइनल मैच में दिल्ली की टीम ने पहले बैटिंग की और 295 रन बनाए। जवाब में उतरी विदर्भ की टीम ने पहली इनिंग में 547 रनों का स्कोर खड़ा किया और उसे पहली इनिंग में 252 रनों की लीड मिली। इसके बाद दूसरी इनिंग में दिल्ली की टीम 280 रनों पर सिमट गई और दिल्ली को सिर्फ 28 रनों की ही लीड मिल सकी। जीत के लिए विदर्भ को 29 रनों की जरूरत थी और इस टारगेट को विदर्भ ने 5 ओवर में ही 1 विकेट गंवाकर ही हासिल कर लिया। इसी के साथ रणजी ट्रॉफी 2017-18 का फाइनल विदर्भ ने अपने नाम कर लिया।

वसीम जाफर ने बनाया खास रिकॉर्ड, गुरबानी ने ली हैट्रिक

वहीं इस फाइनल मुकाबले में विदर्भ के वसीम जाफर ने विनिंग शॉट खेला। इसी के साथ वसीम के नाम एक रिकॉर्ड भी बन गया। दरअसल, वसीम जाफर जिस भी टीम से फाइनल मैच खेले हैं, उस टीम ने खिताब जीता है। इस बार वसीम जाफर विदर्भ की टीम से खेले, तो विदर्भ ने पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता। साथ ही रजनीश गुरबानी भी इस मैच के हीरो रहे। गुरबानी ने दोनों इनिंग्स में मिलाकर सिर्फ 59 रन ही दिए और 6 विकेट लिए। जिसमें एक 'हैट्रिक' भी शामिल है। बता दें कि विदर्भ की टीम 1957-58 से रणजी ट्रॉफी में खेल रही है, लेकिन आजतक कभी भी इसका खिताब नहीं जीत पाई है। विदर्भ ने पहली बार 2017-18 में रणजी ट्रॉफी का फाइनल जीता है। वहीं दिल्ली की टीम इस ट्रॉफी में 7 बार चैंपियन रह चुकी है। 

कमेंट करें
A8eZp