comScore

देवेंद्र चौरसिया की हत्या के मामले में नया मोड़, परिजन धरना पर बैठे

देवेंद्र चौरसिया की हत्या के मामले में नया मोड़, परिजन धरना पर बैठे

डिजिटल डेस्क, हटा । कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या के मामले में नया मोड़ आ गया है । प्रकरण में आरोपी बनाए गए बसपा बिधायक रामबाई सिंह के पति गोविंद सिंह के विरुद्ध घोषित 25 हजार का इनाम वापस लेने और प्रकरण से उसका नाम हटाये जाने के विरुद्ध स्वर्गीय देवेंद्र चौरसिया की विधवा संध्या चौरसिया,पुत्र सोमेश चौरसिया,भाई महेश,अशोक,संजू चोरसिया ,जिला पंचायत सदस्य लता अशोक चोरसिया एवं परिवार व समाज की महिलाओं के साथ बस स्टैंड हटा में एक दिवसीय भूख हड़ताड़ पर बैठ गयी है। देवेंद्र चोरसिया की हत्या 15 मार्च को उनके फॉर्म हाउस पर कर दी गयी थी,जिसमे उनके पुत्र सोमेश पर भी प्राणघातक हमला हुआ था । हटा पुलिस ने गोविंद सिंग सहित 7 नामजद आरोपियो एवं अन्य  लोगों पर प्रकरण दर्ज किया था । गोविंद  को छोड़कर अन्य आरोपी गिरफ्तार होकर जेल में है।
 

हटा बंद की चेतावनी 

सूत्रों के अनुसार चौरसिया परिवार द्वारा हटा बंद करने की भी तयारी की जा रही है । अभी तक 23 जुलाई  को बंद करने की चर्चा है किंतु प्रशासन द्वारा फिलहाल अधिकृत रूप से कुछ भी नहीं कहा गया है । गौरतलब है कि पहले मृतक बहुजन समाज पार्टी में थे किंतु विधान सभा चुनाव के पूर्व ही उन्होंने कांगेस की सदस्यता ग्रहण कर ली थी ।इसके बाद प्रदेश में बसपा के समर्थन में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से समीकरण बदलने लगे थे । 
 

आवेदनों की जांच की जा रही है

मामले में पुलिस यू टर्न ले चुकी है और गोविंद सिंग को गिरफ्तार न करने का एलान किया जा चुका है । इस संबंध में पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह का कहना है कि देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड में आरोपी बनाए गए गोविंद सिह की ओर से प्राप्त आवेदनों की जांच की जा रही है।  इस आवेदन को लेकर ही पुलिस की निष्पक्षता पर उंगली उठाई जा चुकी है ।पुलिस का दावा है कि ऐसे तथ्य प्राप्त हुए हैं जिससे गोविंद सिंग पर आरोप सिद्ध नहीं पाया जा रहा है ।आधार पर  25 हजार का जो इनाम घोषित किया गया था ,उसे निरस्त कर दिया गया है। इतना ही नहीं  धारा 173(8) के तहत पुन: विवेचना की जा रही है ।इस जांच में यदि कोई आरोप पाए जाते हैं तो ही कोई कार्रवाई की जाएगी। तब तक के लिए इस मामले में गिरफ्तारी से भी छूट मिल गई है।
 

कमेंट करें
rspmt