comScore

दिनेश कार्तिक ने BCCI से मांगी 'बिना शर्त माफी', TKR के ड्रेसिंग रूम से देखा था मैच

दिनेश कार्तिक ने BCCI से मांगी 'बिना शर्त माफी', TKR के ड्रेसिंग रूम से देखा था मैच

हाईलाइट

  • दिनेश कार्तिक ने BCCI से 'बिना शर्त माफी' मांग ली है
  • कार्तिक ने BCCI के सेंट्रल क्लॉज का उल्लंघन किया था
  • कार्तिक ने TKR के ड्रेसिंग रूम से कैरिबियन प्रीमियर लीग का एक मैच देखा था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। क्रिकेटर दिनेश कार्तिक ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के सेंट्रल क्लॉज का उल्लंघन करने के मामले में 'बिना शर्त माफी' मांग ली है। कार्तिक ने शाहरुख खान के स्वामित्व वाले ट्रिनबागो नाइट राइडर्स के ड्रेसिंग रूम से कैरिबियन प्रीमियर लीग का एक मैच देखा था। इस दौरान उन्होंने ट्रिनबागो की जर्सी भी पहनी थी।

कार्तिक आईपीएल फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान हैं, लेकिन ट्रिनबागो के ड्रेसिंग रूम से उस टीम की जर्सी पहनकर मैच देखने के बाद बीसीसीआई को कारण बताओ नोटिस जारी करने के लिए मजबूर होना पड़ा। बीसीसीआई ने कार्तिक से इस नोटिस में पूछा है कि क्यों न उनका सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट कैंसिल कर दिया जाए?

इसके जवाब में कार्तिक ने कहा, 'वह कोच ब्रेंडन मैकुलम के अनुरोध पर पोर्ट ऑफ स्पेन गए और उन्हीं के अनुरोध पर TKR की जर्सी पहने हुए मैच देखा। कार्तिक ने अपने माफी पत्र में लिखा, 'मैं पोर्ट ऑफ स्पेन जाने से पहले बीसीसीआई से अनुमति नहीं लेने के लिए बिना शर्त माफी मांगना चाहता हूं।' 

उन्होंने कहा, 'मैं इस बात को दोहराना चाहता हूं कि मैंने न तो टीकेआर से संबंधित गतिविधियों में हिस्सा लिया है और न ही टीकेआर के लिए कोई भूमिका निभाई है।' तमिलनाडु के 34 वर्षीय कीपर ने बीसीसीआई को आश्वासन भी दिया है कि वह 'त्रिनिदाद से वापस आने से पहले शेष मैचों में टीकेआर के ड्रेसिंग रूम में नहीं बैठेंगे।'

चूंकि कार्तिक ने बिना शर्त माफी मांगी है, इसलिए प्रशासकों की समिति (सीओए) इस मामले को जल्द से जल्द क्लोज कर सकती है।

उधर, प्रशासकों की समिति (COA) ने रविवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) और एशियाई क्रिकेट परिषद (ACC) की बैठकों में अनुपलब्धता के लिए ये नोटिस जारी किया गया है।

अमिताभ चौधरी को आज से 7 दिनों के भीतर यह बताने के लिए कहा गया है कि उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जानी चाहिए।


 

कमेंट करें
VxTte