comScore

हाफिज की गिरफ्तारी का ट्रंप ने किया स्वागत, कहा- पाक पर भारी दबाव डाला


हाईलाइट

  • ट्रंप ने बुधवार को आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी का स्वागत किया
  • ट्रंप ने कहा कि अमेरिका दो साल से पाकिस्तान पर भारी दवाब डाल रहा था
  • पंजाब प्रांत की एंटी टेररिज्म अथॉरिटी ने हाफिज को गिरफ्तार किया है

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी का स्वागत किया। ट्रंप ने कहा कि 2008 के मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड को तलाशने के लिए पिछले दो साल से पाकिस्तान पर भारी दवाब डाला जा रहा था।

ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा, 'दस साल की तलाश के बाद पाकिस्तान में मुंबई आतंकवादी हमलों के तथाकथित “मास्टरमाइंड” को गिरफ्तार किया गया है। उसकी तलाश करने के लिए पिछले दो वर्षों से भारी दबाव डाला गया है!'

ग्लोबल टेररिस्ट हाफिज सईद पर अमेरिका ने 10 मिलियन अमेरिकी डॉलर का इनाम घोषित किया था। हाफिज को तब गिरफ्तार किया गया जब वह बुधवार सुबह लाहौर से गुजरांवाला जा रहा था। पंजाब प्रांत की एंटी टेररिज्म अथॉरिटी ने सईद को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारी के बाद हाफिज को गुजरांवाला में एंटी टेररिज्म कोर्ट (एटीसी) के समक्ष पेश किया गया। कोर्ट ने हाफिज को सात दिनों के लिए ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया है। पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा कि हाफिज को लाहौर की लखपत जेल में शिफ्ट कर दिया गया है।

हाफिज के नेतृत्व वाले जमात-उद-दावा (JuD) को लश्कर से जुड़ा संगठन माना जाता है। लश्कर ने ही 2008 में मुंबई हमलों को अंजाम दिया था। इस हमले में अमेरिकी नागरिकों सहित 166 लोग मारे गए थे। हालांकि हाफिज की गिरफ्तारी 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले को लेकर नहीं हुई है, बल्कि टेरर फंडिंग से जुड़े कई मामलों में हुई है।

हाफिज की गिरफ्तारी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पहली अमेरिका यात्रा के कुछ ही दिन पहले हुई है। राष्ट्रपति ट्रंप ने पाकिस्तान को उसकी धरती से संचालित होने वाले आतंकी समूहों पर लगाम लगाने के लिए पर्याप्त कार्रवाई नहीं करने के लिए भी चेताया था।

कमेंट करें
uQEIX