comScore

दवा दुकान पर ड्रग विभाग का छापा, बिना बिल के बेची जा रही थी दवा

दवा दुकान पर ड्रग विभाग का छापा, बिना बिल के बेची जा रही थी दवा

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। एक दवा दुकानदार से मिली जानकारी के बाद ड्रग इंस्पेक्टर की टीम ने नगर के केशर प्लाजा काम्पलेक्स में संचालित श्रीओम नमो ट्रेडर्स (दवाओं के रिटेल एवं होलसेल दुकान) पर कार्यवाही की। वहां से बिना बिल के बेची जा रही आर्बाशन की सेफ-टी किट नामक दवा के 6 पैकेट बरामद किये है, जिसमें पांच भरे और एक खाली है, जिसकी भी बिक्री का कोई रिकॉर्ड दुकानदार के पास नहीं था। सबसे दिलचस्प बात यह है कि जिस वक्त ड्रग विभाग के अधिकारी शरद जैन और टीम कार्यवाही करने पहुंची, उस दौरान दवा दुकान के संचालक संदीप सरोज दुकान में नहीं थे और नौकर दुकान का संचालन कर रहे थे।

खरीदी बिक्री का कोई रिकार्ड नहीं था

मिली जानकारी अनुसार आर्बाशन की दवा सेफ-टी किट गायनिक विशेषज्ञ की पर्ची पर बेची जाती है और चिकित्सीय मार्गदर्शन के अनुसार ही उसका उपयोग किया जाता है लेकिन श्री ओम नमो ट्रेडर्स की दुकान से बरामद आर्बाशन की दवा सेफ-टी किट के बरामद होने पर न तो दुकानदार, दवा की खरीदी और न ही बिक्री का बिल पेश कर सका। ड्रग इंस्पेक्टर शरद जैन ने बताया कि श्री ओम नमो ट्रेडर्स (दवाओं के रिटेल एवं होलसेल दुकान) में मिली आर्बाशन की सेफ-टी कीट को पैकेट को बरामद किया गया है। जिन्होने इसकी खरीदी और बिक्री का कोई बिल पेश नहीं किया है। जिसके खिलाफ नियमों के उल्लंघन की कार्यवाही के साथ ही दवा दुकानदार के लायसेंस को निलंबित करने की कार्यवाही की जायेगी और यदि बेची जा रही दवा को लेकर कोई ठोस जवाब नहीं मिलता है तो इसके खिलाफ और कार्यवाही भी की जा सकती है।

दुकान-दुकान घूमकर दवा बेचने निकला था कर्मी

ड्रग इंस्पेक्टर शरद जैन को शाम 5 बजे एक दवा दुकानदार से सूचना मिली कि एक लाल शर्ट में श्री ओम नमो ट्रेडर्स  का कर्मी वाहन में बिना बिल के आर्बाशन की सेफ-टी किट दवा बेचने का काम कर रहा है। जिसे गंभीरता से लेते हुए ड्रग इंस्पेक्टर शरद जैन ने दुकान पहुंचे और लगभग 15 मिनट की दुकान में छानबीन के बाद छिपाकर रखी गई आर्बाशन की दवा सेफ-टी किट को बरामद करने में सफलता मिली।
 

कमेंट करें
mYzUb