comScore
Dainik Bhaskar Hindi

दुनिया का सबसे अनोखा गांव, यहां गाड़ियां नहीं चलती हैं नाव

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 08th, 2017 07:38 IST

522
0
0

डिजिटल डेस्क, हाॅलैंड। गांव अपनी अनोखी खूबसूरती, हरियाली और ग्रामीण परंपराओं के लिए ही जाने जाते है। यह भी बेहद खूबसूरत है, लेकिन दूसरे गांवों की बजाए सबसे अलग है। यहां सालभर पर्यटको का आना लगा रहा है। हम बात कर रहे हैं गिएथूर्न (Giethoorn Village) की जिसे दक्षिण का वेनिस भी कहा जता है। यहां पहुंचने पर आपको लगेगा मानों किसी सपने की जगह पर आप खड़े हैं। ऐसा क्यों, इसके बारे में डिटेल में बताते हैं...

बाइक या अन्य गाड़ियां नहीं, बल्कि नाव चलती है

दरअसल, यह गांव नहरों से घिरा हुआ है। यहां बाइक या अन्य गाड़ियां नहीं, बल्कि नाव चलती है। यहां रोड से नही, बल्कि नहरों से चलकर जाना होता है। कुछ स्थानों पर लकड़ी के पुल बने हुए हैं जिन पर चलकर लोग यहां पहुंचते हैं।  यहां के नहरों में इलेक्ट्रिक मोटर से नाव चलती हैं ये आवाज भी कम करती हैं और कोई प्रदूषण भी नही है। 

1230 में बनाया गया था गेटेनहोर्न

बताया जाता है कि ये गांव 1230 में बनाया गया था। इसका शुरुआती नाम गेटेनहोर्न था। जिसका मतलब है बकरियों के सींग। अनुमान लगाया जाता है कि यहां बड़ी संख्या में बकरियां रही होंगी। बाद में इसका नाम गिएथूर्न हो गया।

फेनफेयर की शूटिंग से विश्व स्तर पर पहुंच गई प्रसिद्धि 

इतनी नहरों की वजह 1170 में आयी बाढ़ बतायी जाती है। पिट मिट्टी पर जगह-जगह खुदाई कर यहां नहरों को बनाया गया। यहां 7.5 किलो मीटर तक लंबी नहरे हैं। ये दुनिया के नक्शे का खूबसूरत पर्यटन स्थल है। साल 1958 में बर्ट हांस्त्रा की डच कॉमेडी फिल्म फेनफेयर की शूटिंग यहां की गई थी। दुनिया ने जब इस गांव को फिल्म में देखा तो इसकी प्रसिद्धि विश्व स्तर पर पहुंच गई। इसके बाद से ये दुनिया के सबसे खूबसूरत ही नही अनोखे गांव के रूप में भी जाना जाता है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर