comScore
Dainik Bhaskar Hindi

बुजुर्ग दंपति ने गटका जहर सुसाइड नोट में लिखा, देखभाल करने वाला कोई नहीं

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 13th, 2019 17:59 IST

1.3k
0
0
बुजुर्ग दंपति ने गटका जहर सुसाइड नोट में लिखा, देखभाल करने वाला कोई नहीं

डिजिटल डेस्क, नागपुर। संतान होने के बाद भी देखभाल नहीं होने से बुजुर्ग दंपति ने जहर गटक लिया, जिससे उनकी मौत हो गई है। बरामद सुसाइड नोट के आधार पर कलमना थाने में आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया गया है। पुराना कामठी रोड स्थित ओमसाई नगर निवासी बुधरामजी कटरे (70) और उनकी पत्नी रामीबाई शनिवार सुबह करीब नौ से दस बजे के दौरान अपने निवास स्थान पर ही मृत पाए गए। उन्होंने जहर का सेवन कर लिया था। दोनों के शव नीले पड़ चुके थे।

यह है पूरा मामला
बुधराम और रामीबाई ने गुजर-बसर के लिए घर में ही एक छोटी सी किराना दुकान खोल रखी थी, लेकिन उससे ज्यादा आमदनी नहीं हो रही थी। इस कारण उन्होंने घर के दो कमरे किराए पर लगा दिया। बुधराम की दो शादियां हुईं थीं, लेकिन वृद्धावस्था में उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं था। पहली पत्नी मौदा तहसील अंतर्गत तारसा में रहती है। विवाहित तीन पुत्रियां हैं। पुत्र जितेंद्र (35) मौदा तहसील के ही निमखेड़ा में रहता है। बड़ी पुत्री माया, बुधराम के घर के पास ही रहती है। चार-चार संतान होने के बाद भी बुधराम और रामीबाई की देखभाल करने वाला उनके पास कोई नहीं था।  

सुबह 6 बजे ही उठ जाते थे दोनों, देर तक दरवाजा बंद होने से गहराया शक
कटरे दंपति सुबह छह बजे ही उठ जाते थे, मगर शनिवार को नौ बजे तक उनके घर का दरवाजा बंद था। पुत्र जितेंद्र किसी काम  से शुक्रवार को ओमसाई नगर आया हुआ था, मगर वह बहन माया के घर पर ठहरा हुआ था। सुबह पिता से मिलने घर पर गया था,  लेकिन दरवाजा बंद होने से उन्हें सोया हुआ समझकर वापस बहन के घर चला गया। इधर, जब नौ-दस बजे तक भी घर का दरवाजा नहीं खुला तो जितेंद्र, माया और आस-पड़ोस के लोगों ने बुधराम और रामीबाई को आवाज दी। कोई प्रतिसाद नहीं मिलने से अनहोनी का संदेह हुआ। दरवाजा तोड़ा गया तो कमरे में फर्श पर दोनों के शव पड़े हुए थे। पुलिस को जानकारी दी गई।

संतान होने के बाद भी रहते थे अकेले
घटनास्थल से सुसाइड नोट बरामद हुआ है। उसमें बुधराम ने वृद्धावस्था में कोई देखभाल करने वाला नहीं होने और आर्थिक तंगी के कारण उक्त कदम उठाए जाने का जिक्र किया है। उसने यह भी लिखा है कि आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से नाते-रिश्तेदारों तक ने भी उनसे मुंह मोड़ लिया है। शुरुआती दौर में कटरे दंपति की हत्या की आशंका व्यक्त की जा रही थी, मगर भीतर से दरवाजा बंद होने और घर में दाखिल होने के लिए दूसरा कोई और मार्ग नहीं होने के कारण यह आशंका खारिज हो गई। सुसाइड नोट मिलने से दंपति द्वारा आत्महत्या किए जाने की पुष्टि हुई है। प्रकरण दर्ज किया गया है। जांच जारी है। 
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download