comScore

नागपुर के वाड़ी में डबल मर्डर : कपल की हत्या कर माल उड़ा ले गये,दूसरी जगह नशेड़ी ने बुआ को चाकू से गोदा

नागपुर के वाड़ी में डबल मर्डर : कपल की हत्या कर माल उड़ा ले गये,दूसरी जगह नशेड़ी ने बुआ को चाकू से गोदा

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  वाड़ी के सुरक्षा नगर में एक दंपति की हत्या कर दी गई। लूटपाट के उद्देश्य से हत्या किए जाने का प्राथमिक अनुमान है।   जानकारी के अनुसार वाड़ी सुरक्षा नगर निवासी शंकर चक्रवर्ती (60) की दत्तवाड़ी चौक में नारियल पानी बेचने की दुकान है। रविवार सुबह भी वह दुकान पर गया था। दोपहर में भोजन करने के लिए घर आया। भोजन करने के बाद आराम करने लगा। इसी बीच, तीन से चार बजे के दौरान अज्ञात आरोपी लूटपाट के इरादे से घर में घुस आया और उसने शंकर और उसकी पत्नी सीमा (50) की धारदार हथियार से हत्या कर दी। सिर व शरीर के अन्य भागों पर वार किए गए हैं। घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई। चक्रवर्ती  दंपति को गोद ली हुई बेटी प्रियंका (25) है। वह निजी प्रतिष्ठान में कार्यरत है। घटना के दौरान वह अपने काम पर गई थी। शाम के समय में जब घर लौटी तो लहूलुहान अवस्था में माता-पिता के शव देखकर उसके होश उड़ गए। प्रियंका की चीख-पुकार सुनकर आस-पड़ोस के लोग जमा हुए। कुसी ने प्रकरण की जानकारी शहर पुलिस नियंत्रण कक्ष को दी। आला पुलिस अधिकारी दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे। 

दस हजार की नकदी गायब 
सदमे में होने से पुलिस प्रियंका से ज्यादा पूछताछ नहीं कर पाई है। सिर्फ इतना ही पता चला है कि आरोपी दस हजार रुपए नकद ले भागे हैं। अन्य कौन सी कीमती सामान उने हाथ लगा है, इसकी पड़ताल हो रही है। रंजिश के चलते घटना को अंजाम दिए जाने का प्रारंभिक अनुमान है। दंपति नारियल पानी विक्रेता थे। उनके घर में ज्यादा माल मिलना संभव नहीं था। मात्र दस हजार रुपए की लूट के लिए दंपति की हत्या करने की बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है। इससे हत्या का कोई और कारण होने का संदेह व्यक्त किया जा रहा है। 

शोर-शराबे से नहीं सुनी आवाज
आस-पड़ोस के लोगों से भी पुलिस ने पूछताछ की है। कुछ लोगों का कहना है कि आंबेडकर जयंती होने से वे दीक्षाभूमि व अन्य कार्यक्रमों में गए हुए थे। कुछ अन्य लोगों ने बताया कि चारों तरफ डीजे और अन्य शोर-शराबा होने से उन्होंने चक्रवर्ती  दंपति की आवाज नहीं सुनी। प्रकरण दर्ज किया गया है।जांच जारी है। 

इधर बुआ को उतारा मौत के घाट
शादी में शामिल होने आई बुआ की भतीजे ने हत्या कर दी। घर में मेहमान होने के बावजूद घटना हाेने से हड़कंप मचा रहा। शराब के लिए नशेड़ी भतीजे को फटकार लगाई थी, जिस कारण यह घटना घटी।   मृतका मालाबाई अनिल कुंभारे (45) वर्धा जिले के देवली रहने वाली थी, जबकि आरोपी भतीजा उसी गांव में निवासरत राजा देवीदास पंधराम (32) है। राजा कुछ काम धंधा नहीं करता था, उसे शराब की लत थी। जिससे वह दिन भर नशे में रहता था। माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य भी उससे त्रस्त थे। राजा, मालाबाई के भाई का लड़का है। एक ही गांव में रहने से वह भी राजा की आदतों से त्रस्त हो गई थी। इस कारण हमेशा वह राजा को सुधारने के उद्देश्य से फटकार लगाती थी, लेकिन शराबी राजा को मालाबाई की बातों से गुस्सा आता था।

शनिवार की सुबह करीब पौने छह बजे के दौरान शादी में आए कई मेहमानों के सामने मालाबाई ने राजा को भला बुरा कहा था। इससे दाेनों में विवाद हो गया। बुआ और भतीजे को आपस में लड़ता लोग कमरे से बाहर निकल गए। इस बीच मौका देखकर राजा ने जेब से चाकू निकाला और मालाबाई के सीने में वार कर दिया। वार करते ही राजा वहां से भाग गया। मालाबाई की चीख पुकार सुनकर सभी मेहमान कमरे की ओर दौड़ पड़े। मालाबाई को लहूलुहान देखकर तत्काल मेडिकल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन गंभीर रूप से घायल मालाबाई ने बीच रास्ते में ही दमतोड़ दिया। इस बीच आरोपी राजा के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है, उसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है। 

कमेंट करें
Sk6uJ