comScore

चुनाव इफेक्ट : वोट डालने 6 बजे पहुंचनेवालों को मिलेगा कूपन, अपराधियों पर सख्ती

चुनाव इफेक्ट : वोट डालने 6 बजे पहुंचनेवालों को मिलेगा कूपन, अपराधियों पर सख्ती

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जिला निर्वाचन अधिकारी अश्विन मुदगल ने कहा कि सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक वोटिंग होगी। जो मतदाता शाम 6 बजे तक लाइन में लगेगा उसे कुपन दी जाएगी आैर वह अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। धारा 144 लागू होने से पोलिंग बुथ के 100 मीटर के दायरे में किसी प्रकार का प्रचार या आवाज नहीं चलेगा आैर पुलिस तुरंत एक्शन लेगी। जिलाधीश कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा के दौरान श्री मुदगल ने बताया कि सुबह 7 बजे वोटिंग शुरू होगी आैर उसके पूर्व मॉक पोल होगा। वोटिंग खत्म होने के बाद सभी ईवीएम संबंधित विधानसभा क्षेत्र में जमा होंगे और वहां से ईवीएम हथियारबंद पुलिस बंदोबस्त में जीपीएस से लैस वाहनों से कलमना पहुंचेंगे। कलमना के स्ट्रांग रूम में नागपुर व रामटेक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की ईवीएम मशीनें रखी जाएगी। ईवीएम स्ट्रांग रुम तक पहुंचने तक उम्मीदवार या उनका प्रतिनिधि फालो कर सकता है। स्ट्रांग रुम में किसीप्रकार के सीसीटीवी कैमरे नहीं होंगे। प्रतिनिधियों की उपस्थिति में ईवीएम सीलिंग प्रक्रिया पूरी की जाएगी। परिसर में 150 सीसीटीवी कैमरे लगे रहेंगे। ईवीएम की सुरक्षा तीन स्तरीय होगी। पहला घेरा सीआईएसएफ के जवान संभालेंगे। दूसरे घेरे की सुरक्षा एसआरपीएफ व तीसरे घेरे की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस पर रहेगी। यहां 24 घंटे पुलिस तैनात रहेगी आैर परिसर में आनेवाले की एंट्री लॉग बुक में होगी। हर चीज पर नजर रखी जाएगी आैर कलमना में ही कंट्रोल रुम भी रहेगा। 12 अप्रैल को उम्मीदवार या उनके प्रतिनिधियों के समक्ष स्कृटिनी प्रक्रिया होगी। उन्होंने कहा कि स्ट्रांग रुम में 3 गेट है, जिसमें से दो गेट दीवार खड़ी कर बंद कर दिए जाएंगे। एक गेट पर ताला लगा रहेगा। वोटिंग के दौरान पुलिस की चाकचौंबद सुरक्षा रहेगी। पुलिस का रिस्पांस टाइम 5 मिनट है। पुलिस 5 मिटन में घटनास्थल पर पहुंच जाएगी। 

जिले में 12 महिला मतदान केंद्र 

नागपुर में 6 व रामटेक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में 6 मतदान केंद्र पूरीतरह महिलाआें के हाथ में रहेंगे। यहां चुनाव अधिकारी, कर्मचारी से लेकर सुरक्षा जवान भी महिला ही रहेगी।

36 तड़ीपार, 12 को जेल भेजा

वहीं पुलिस आयुक्त डा. बी. के. उपाध्याय ने कहा कि लाेकसभा चुनाव को देखते हुए 36 अपराधियों को तड़ीपार करने के साथ ही 12 आराेपियों को जेल भेज दिया गया है। जनवरी से अब तक 27 सौ लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई। उन्होंने कहा कि चुनाव शांतिपूर्ण निपटाने के लिए चाक चाैबंद सुरक्षा व्यवस्था की गई है। सीआईएसएफ की एक, एसआरपीएफ की 2 कंपनियां चुनाव बंदोबस्त में लगी है। इसके अलावा 6 हजार स्थानीय पुलिस व 15 सौ होमगार्ड चुनाव बंदोबस्त में तैनात किए गए है। 500 पुलिस अधिकारी भी तैनात है। 300 पुलिस कर्मचारी  व 65 पुलिस अधिकारी बाहर से यहां आए है। शहर में 52 पोलिंग बुथ संवेदनशील (क्रिटीकल) है। बुथ के आस पास 4  से ज्यादा लोगों के एकसाथ खड़े होने पर कार्रवाई की जाएगी। बुथ पर बगैर काम के कोई गया तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

झोपडपट्टी में सर्च अभियान 

रात को झोपडपट्टी व होटलों में सर्च अभियान चलेगा। होटल में बाहर से आकर रुके लोगों से पूछताछ होगी। वाजिब कारण नहीं होने पर कार्रवाई की जाएगी। झोपडपट्टियों में रात को सर्च अभियान चलेगा। यहां 4 से ज्यादा लोग इकट्ठा होने पर कार्रवाई होगी। झोपडपट्टी में बाहरी लोग मिलने पर कार्रवाई होगी। ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राकेश आेला ने बताया कि चुनाव आचार संहिता लगने के बाद 2117 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई। 1 करोड़ 13 लाख पकड़े गए। 51 फरार आरोपियों को पकड़ा गया। सीआईएसएफ की 1 व एसआरपीएफ की 1 कंपनी तैनात की गई है। चुनाव बंदोबस्त में 23 पुलिस कर्मचारी लगाए गए है। 170 पुलिस अधिकारी व 500 होमगार्ड भी तैनात है। जिले में नाकाबंदी के साथ ही आल आउट मुहिम भी जारी है। 

591 जगह की वीडियोग्राफी होगी 

जिला निर्वाचन अधिकारी अश्विन मुदगल ने कहा कि नागपुर में 2065 मतदान केंद्र है, जो 591 जगह है आैर इन जगहों की वीडियोग्राफी की जाएगी। वोट डालते समय वोटरों को जो पर्ची दी जाती है, उस पर पार्टी का सिंबाल नहीं होना चाहिए। नागपुर व रामटेक में कुल 19580 पोस्टल बैलेट है। चुनाव में 23 हजार कर्मचारी लगे हुए है। ये कर्मचारी कल मतदान केंद्रों पर पहुंच जाएंगे। 

कमेंट करें
GlyF7