comScore

नक्सलियों की करतूत, जगह-जगह बिछाए विस्फोटक, मुठभेड़ में 2 जवान घायल

नक्सलियों की करतूत, जगह-जगह बिछाए विस्फोटक, मुठभेड़ में 2 जवान घायल

डिजिटल डेस्क, एटापल्ली (गड़चिरोली)। गड़चिरोली सीट के लिए हुए मतदान प्रक्रिया के दौरान क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा जगह-जगह हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया गया। इसी तरह तहसील के परसलगोंदी गांव में नक्सली और सी-60 के जवानों के बीच हुई मुठभेड़ में दो जवान घायल हो गए। उन्हें उपचार के लिए नागपुर के ऑरेज सिटी अस्पताल में रेफर किया गया है। वहीं वाघझेरी के  मतदान केंद्र के पास बम विस्फोट किया गया।  पुलिस जवानों ने पितोड़ा गांव के समीप विस्फोटक जब्त किया है। इन सभी घटनाओं से एटापल्ली तहसील समेत समूचे जिले में दहशत का माहौल निर्माण हो गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पहली घटना तहसील के कसनसुर उपपुलिस थाना से 7 किमी दूरी पर स्थित वाघेझरी गांव में घटी। यहां पर नक्सलियों ने मतदान केंद्र से कुछ ही दूरी पर  बम विस्फोट किया। इससे पूर्व इस घटना की भनक लगते हुए पुलिस विभाग व प्रशासन ने उक्तकेंद्र को स्थानांतरित किया था, जिससे यहां कोई जीवितहानि नहीं हुई। दूसरी  घटना परसलगोंदी गांव के पास घटी। मतदान की प्रक्रिया समाप्त होने के बाद पुलिस जवान पोलिंग पार्टी के साथ बेस कैम्प की ओर  जा रहे थे। इसी बीच नक्सलियों ने जंगल के मार्ग पर बिछा रखे आईईडी  विस्फोट किया और गोलीबारी शुरू की, जिसमें जवाबी कार्रवाई में जवानों के बढ़ते दबाव के चलतेनक्सली घने जंगल की ओर भाग खड़े हुए।  

घटना में विशेष अभियान पथक (सी-60) दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें हेलिकॉप्टर की सहायता से नागपुर के ऑरेज सिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तीसरी घटना इसी तहसील के जांभिया पितोड़ा मार्ग पर घटी। जहां नक्सलियों ने पुलिस जवानों को क्षति पहुंचाने के लिए विस्फोटक बिछाया था। किंतु सतर्कता बरतने के कारण जवानों ने विस्फोटक जब्त किया। जिससे बड़ी जीवितहानि टल गयी।  इन सभी घटनाओं से एटापल्ली तहसील में दहशत का वातावरण निर्माण हो गया है। 

धानोरा में पुलिया के नीचे छिपाया था बम 
पुलिस जवानों को हानि पहुंचाने के लिए नक्सलियों ने धानोरा तहसील मुख्यालय से मात्र डेढ़ किमी दूरी पर स्थित ढेका नामक नदी के पुलिया के नीचे भूसुरुंग विस्फोटक लगाया था। इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस जवानों ने सतर्कता बरतते हुए और मुहिम तीव्र रूप से चलाते हुए नक्सलियों द्वारा पुलिया के नीचे छिपाए गए विस्फोटक को नष्ट किया। इस कारण बड़ी दुर्घटना टल गई। 

कमेंट करें
AJxoD