comScore

ब्रहस्पति ने वक्री होकर किया वृश्चिक राशि में प्रवेश, 12 राशियों पर होगा प्रभाव

ब्रहस्पति ने वक्री होकर किया वृश्चिक राशि में प्रवेश, 12 राशियों पर होगा प्रभाव

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। एक बार फिर गुरु अपनी धुरी का परिवर्तन कर चुके हैं। ब्रहस्पति वक्री हो कर 22 अप्रैल 2019 को दिन में 11 बजकर 30 मिनिट पर वृश्चिक राशि में प्रवेश कर चुके हैं। ब्रहस्पति ने पिछले माह में 30 मार्च को धनु राशि में प्रवेश किया था और 11 अप्रैल को इसी धनु राशि में वक्री भी हो गया था। वक्री चलते हुए अब 22 अप्रैल को धनु राशि से पुनः वृश्चिक राशि में प्रवेश किया है।
ब्रहस्पति इस वृश्चिक राशि में 12 अगस्त 2019 को मार्गी हो जाएगा। गुरु के वक्री काल में हो रहे इस राशि परिवर्तन का आप पर क्या प्रभाव होगा आइए जानते हैं...

देखा जाए तो लगभग सभी राशि वालों को वक्री बृहस्पति के कारण किसी ना किसी कष्ट का सामना करना पड़ेगा। गुरु के वक्री होने पर सबसे अधिक प्रभाव राजनीतिक और राज्य संबंधी मामलों पर होगा। व्यक्तिगत रूप से व्यक्ति की सोचने समझने की क्षमता प्रभावित होती है।
ब्रहस्पति के वक्री होने पर लगभग निर्णय गलत ही होते हैं। व्यक्ति हड़बड़ी में वो सब कार्य कर बैठता है जो उसे तत्काल या भविष्य में हानि पहुंचा सकते हैं। विवाह और कार्य संबंधी विषयों में देरी होने लग जाती है। जातक के मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा में कमी का अनुभव होता है। यहां जानिए सभी राशियों पर ब्रहस्पति का क्या प्रभाव होने वाला है?

मेष  :-
इस राशि के लिए गुरु स्वास्थ्य में सुधार करेगा। रुके धन की प्राप्ति होगी। धार्मिक कार्यों के आयोजन और व्यय होने की संभावना हो सकती हैं।

वृषभ :-
गुरु के वक्री होने के कारण खर्च में वृद्धि होगी। व्यापार में स्थितियां थोड़ी कठिन बनेंगी। निर्माण कार्य करने वालों को आर्थिक हानि की संभावना है। निवेश से बचने का प्रयास करें।

मिथुन :-
ब्रहस्पति के वक्र होने से आपको नौकरी और व्यापार में प्रतिष्ठा के साथ धन लाभ होगा। विवादों को सुलझाने का अवसर मिल सकता है। समझौता कर लेंगे तो अच्छा रहेगा।

कर्क :-
ब्रहस्पति के वक्र होने के कारण आपका स्वभाव कठोर हो सकता है। इसमें सुधार करने से कई संकटों से बच सकते हैं। अपना स्वभाव कुछ सरल रखें।

सिंह :-
ब्रहस्पति नई उमंग और उत्साह प्रदान करेगा। योजनाओं के अनुसार काम करने से प्रसन्नता रहेगी। कार्य स्थल पर सम्मान में वृद्धि हो सकती है। धन प्राप्त होगा सम्मान मिलेगा।

कन्या :-
वक्र ब्रहस्पति के कारण धन हानि हो सकती है। सावधान रहें किसी भी प्रकार के निवेश से बचें और अपरिचत लोगों पर भरोसा न करें।

तुला :-
ब्रहस्पति आपके लिए शुभ रहेगा। आरंभिक असफलताओं के बाद सफलता प्राप्त होगी। यह समय अच्छा रहेगा। नया व्यापार भी चालू हो सकता है।

वृश्चिक :-
आपके लिए ब्रहस्पति का वक्री होना अनुकूल बन रहा है। सम्हाल कर काम करें तो पहले से भी अच्छी परिस्थितियां बन सकतीं है। धन लाभ होगा और अविवाहितों के विवाह में आने वाली बाधाएं दूर होंगी।

धनु :-
आपके लिए इस समय में लाभ की स्थितियां बनेंगी। शत्रु पर नियंत्रण पाएंगे। शासकीय कार्यों से सहायता मिलेगी। परिवार में सुखद वातावरण रहेगा।

मकर :-
ब्रहस्पति का वक्री होना इस राशि के लिए ठीक नहीं है। जिन लोगों का जन्म दोपहर में हुआ है, उनके लिए लाभदायक हो सकता है। काम को बनाने में सफलता मिलेगी। धन लाभ मिल सकता है। शेष लोगों को सावधान रहकर काम करना सही है अन्यथा हानि हो सकती है।

कुंभ :-
यह समय आपके लिए अत्यंत लाभकारी हो सकता है। अप्रत्याशित सफलताएं मिलेंगी। पिछले दिनों की परेशानियों से मुक्ति मिलेगी। धन लाभ के साथ प्रतिष्ठा में भी वृद्धि होगी।

मीन :-
ब्रहस्पति मीन राशि का स्वामी है। इस समय व्यापार में लाभ और उन्नति होगी। परिवार से प्रसन्नता आयेगी। वाहन की प्राप्ति हो सकती है। ऋण संबंधी समस्याओं को सुलझाने का अवसर मिलेगा।

कमेंट करें
Hq8U7