comScore
Dainik Bhaskar Hindi

Facebook कुछ इस तरह बचाएगा आत्महत्या करने की सोच रहे लोगों की जान

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 28th, 2017 14:47 IST

861
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। Facebook  की नई “Proactive detection” Artificial Intelligence तकनीक उन सभी पोस्ट्स को खोज सकती है, जिनमें आत्महत्या जैसे विचार नजर आते हैं, मतलब अगर कोई इस विचार के साथ फेसबुक पर कोई पोस्ट करता है तो फेसबुक अब उसकी पहचान कर लेगा। और जहां जरूरत होगी वहां यूजर्स या उनके दोस्तों के लिए मानसिक स्वास्थ्य साधन भी मुहैया कराएगा। और जरूरत पड़ने पर इसके साथ साथ स्थानीय जिम्मेदारों से जल्द से जल्द संपर्क भी करेगा। इसके अलावा आपको बता दें कि AI की सहायता से फेसबुक यूजर रिपोर्ट्स का इंतजार करने के बजाये चिंताजनक पोस्ट्स को जांचने का प्रयास करेगा।

इसके पहले फेसबुक ने AI का टेस्ट कुछ ट्रबलिंग पोस्ट्स को लेकर जल्द से जल्द यूजर के दोस्तों से संपर्क करने को लेकर किया था, इस काम को US में सबसे पहले किया गया था। अब फेसबुक इस AI के साथ दुनिया भर में सभी प्रकार की पोस्ट की जांच करेगा, हालांकि ऐसा यूरोपीय संघ को छोड़कर किया जाएगा। जहां संवेदनशील डेटा पर आधारित प्रोफाइलिंग यूज़र्स पर जनरल डेटा प्रोटेक्शन विनियमन गोपनीयता कानून इस तकनीक के उपयोग को बहुत ही जटिल हैं।

फेसबुक एआई को विशेष रूप से खतरनाक या तत्काल यूजर्स रिपोर्टों को प्राथमिकता देने के लिए उपयोग करेगा ताकि वे मॉडरेटर द्वारा शीघ्रता से संबोधित हो सकें, और ऐसा वह इसलिए करने वाला है ताकि उपकरणों को तुरन्त स्थानीय भाषा संसाधनों और पहली प्रतिक्रियादाता संपर्क जानकारी प्रदान की जा सके। यह आत्महत्या की रोकथाम के लिए समर्पित होगा।  और इन्हें 24/7 किसी भी तरह के रिस्क से लड़ने के लिए परिक्षण भी दे रहा है। और अब 80 ऐसे स्थानीय भागीदारों जैसे Save।org, राष्ट्रीय आत्महत्या निवारण लाइफलाइन और फोरफ्रंट हैं, जिससे जोखिम वाले उपयोगकर्ताओं और उनके नेटवर्क पर संसाधन उपलब्ध कराए जाते हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर