comScore

दो बहनों का फार्म हाउस संचालक ने किया दुष्कर्म , केस दर्ज होते ही फरार

दो बहनों का फार्म हाउस संचालक ने किया दुष्कर्म , केस दर्ज होते ही फरार

डिजिटल डेस्क,नागपुर । दो टीनएज बहनों का उनकी मां की मदद से फार्म हाउस संचालक द्वारा यौन शौषण करने का सनसनीखेज मामला उजागर हुआ है। एक गैर सरकारी संगठन की वजह से इस घिनौने प्रकरण की पोल खुली है। इस बीच देर रात नंदनवन थाने में पीड़ित बालिकाओं की मां और फार्म हाउस संचालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।

जानकारी के अनुसार पीड़ित नाबालिग बहनों में से एक की आयु 17 और दूसरी की 15 वर्ष है।  दोनों बहनें मूलत: मध्यप्रदेश की हैं। करीब तेरह वर्ष पहले उनके पिता वाठोड़ा  निवासी शिक्षा संस्था संचालक अशोक जायसवाल नामक व्यापारी के खेत में काम करने के लिए परिवार के साथ आये थे। खेत में काम कर वहीं फार्म हाउस में परिवार के साथ ही रहते थे। इस बीच फार्म हाउस संचालक अशोक जायसवाल की नीयत में खोट आ गई। आरोप है कि अशोक ने उसकी पत्नी पर बुरी नजर डाली थी। जिससे वह पत्नी को वापस गांव चलने के कहता था,लेकिन पत्नी ने उसकी बात नही मानी। जिससे वह अकेला ही गांव चला गया और उसकी दोनों पुत्रियां और पत्नी यहीं पर अशोक के फार्म हाउस में रहकर काम करती रही।

अक्टूबर 2016 से मई 2019 के बीच अशोक ने 17 वर्षीय किशोरी को नशीली दवा खिलाकर उसके साथ दो बार दुष्कर्म किया। इस दौरान दो बार वह अलग- अलग स्थानों पर भी ले गया था। इसके बाद अधेड़ अशोक ने पीड़िता की छोटी बहन पर भी बुरी नजर डाली। अपने दफ्तर में उसे बुलाकर उसका भी यौन शोषण किया है। अशोक जायसवाल की करतूतों की पीड़ित बहनों की मां को जानकारी थी लेकिन उसने आरोपी को रोका नहीं।  प्रकरण के बारे में किसी और को बताने पर दोनों बहनों को जान से मारने की धमकी उनकी मां और अशोक ने दे रखी थी। इस बीच एक गैर सरकारी संगठन को इस घिनौने प्रकरण की भनक लगी। संगठन के लोगों को पीड़ित बहनों ने घटित वाक्या बताया। मामले की गंभीरता से दोनों बहने संगठन की मदद से थाने पहुंची। मंगलवार की रात आरोपी अशोक के खिलाफ धारा 376,354, भादंवि 4,8,12 पोक्सो एक्ट तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। इस बीच प्रकरण दर्ज होने की भनक लगते ही आरोपी फरार हो गया है। सहायक निरीक्षक जायेभाये मामले की जांच पड़ताल कर रही हैं।

अपहरण भी हुआ था किशोरी का

पीड़ित बहनों में से 15 वर्षीय किशोरी का करीब एक डेढ़ महीने पहले अपहरण भी हुआ था। उसके बाद उससे दुष्कर्म किया गया है। इस मामले में अशोक की लिप्तता होने से इनकार किया जा रहा है। जांच के दौरान आरोपी पुलिस के हाथ लगा। उसे गिरफ्तार कर उसके कब्जे से किशोरी को मुक्त कर वापस उसकी मां के पास फार्म हाउस में भेज दिया गया था,लेकिन तब पुलिस को ताजा घटित मामले की कोई जानकारी नही थी। 

कमेंट करें
eRTpr