comScore

फारूक अब्दुल्ला की बहन और बेटी रिहा, प्रदर्शन के दौरान लिया गया था हिरासत में

फारूक अब्दुल्ला की बहन और बेटी रिहा, प्रदर्शन के दौरान लिया गया था हिरासत में

हाईलाइट

  • फारूक अब्दुल्ला की बहन सुरैया और बेटी साफिया को जमानत पर रिहा कर दिया गया
  • आर्टिकल 370 को निरस्त करने के विरोध प्रदर्शन के दौरान उन्हें हिरासत में लिया गया था
  • सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम के तहत उन्हें हिरासत में लिया गया था

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला की बहन सुरैया और बेटी साफिया को जमानत पर रिहा कर दिया गया है। आर्टिकल 370 को निरस्त करने के विरोध प्रदर्शन के दौरान मंगलवार को उन्हें श्रीनगर से हिरासत में लिया गया था। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि उन्हें सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत हिरासत में लिया गया है।

सुरैया, साफिया और 11 अन्य महिलाओं ने आपराधिक दंड संहिता की धारा 107 के तहत 10,000 रुपये का निजी मुचलका और 40,000 रुपये की जमानत भरते हुए आश्वासन दिया कि वे शांति बनाए रखेंगे। श्रीनगर केंद्रीय कारागार में बंद महिलाओं को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के जमानत दिए जाने के बाद बुधवार शाम को करीब छह बजे रिहा किया गया।

सुरैया और साफिया के नेतृत्व में काली पट्टी बांधकर और तख्तियां लिए हुए महिला प्रदर्शनकारियों का एक समूह बिना अनुमति के प्रदर्शन कर रहा था। पुलिस के मना करने के बावजूद इन प्रदर्शनकारियों ने धरना देने की कोशिश की जिसके बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की महिला कर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को घेर लिया और फिर उन्हें हिरासत में ले लिया गया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों को मीडिया से भी बात करने से रोका गया था।

बता दें कि फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला उन सैकड़ों नेताओं में शामिल हैं, जो 5 अगस्त को केंद्र की राज्य की विशेष स्थिति को भंग करने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के बाद घर में नजरबंद है। 

कमेंट करें
OL4rA