comScore

लड्डू में मिला घातक रंग, आटा से गायब पौष्टिकता , खाद्य पदार्थ मिले अमानक

लड्डू में मिला घातक रंग, आटा से गायब पौष्टिकता , खाद्य पदार्थ मिले अमानक

डिजिटल डेस्क, कटनी। दुकानों में खाद्य-पदार्थ खरीदते समय जरा सी चूक आपके और आपके परिवार की सेहत खराब कर सकती है। इसलिए यह जरुरी है कि खाने-पीने की सामग्री खरीदते समय अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। यह बात हम नहीं बल्कि खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम का वह आंकड़ा ही कह रहा है। जिसमें साल भर के अंतराल में 12 खाद्य सामग्री ऐसी मिली। जिसमें खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम का पालन नहीं हो रहा था। जिसमें पैकिंग में डेट की जानकारी छिपाई गई थी, तो धनिया पाउडर और बेसन के लड्डू में मिलावट की गई थी। इतना ही नहीं खोवा और आटे से पौष्टिक पदार्थ निकालने से भी दुकानदार नहीं चूके। फिलहाल कुछ में जुर्माना लगाया गया है तो कई मामले न्यायालय में चल रहे हैं।

आटे से गायब पौष्टिकता

होटल में बनने वाली रोटियों में से भी पौष्टिक पदार्थ गायब हो रहे हैं। मामला गुरुनानक होटल का है। यहां पर जब ऑटे का सैंपल लेते हुए प्रयोगशाला भेजा गया। तब वहां से जो रिपोर्ट आई। उसमें यह रहा कि जिस मात्रा में ऑटे में पौष्टिक पदार्थ होना चाहिए। वह नहीं रहा। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि यह स्थिति एक्सपायरी डेट का आटा उपयोग करने से बनती है। निर्धारित समय के बाद ऑटे से पौष्टिक पदार्थ धीरे-धीरे कम होते जाते हैं।

लड्डू में घातक रंग

माधवनगर स्थित बानी रेस्टारेंट में लड्डू में घातक रंग मिलाकर बेचा जा रहा था। भोपाल के लैब से जब रिपोर्ट आई, तो लड्डू में वह रंग मिला, जो सेहत के लिए अत्यंत नुकसान दायक है। जिस रंग को खाद्य सामग्री में वेन कर दिया गया है। उसी रंग को मिलाकर दुकानदार ग्राहकों को लड्डू परोस रहा था। इस तरह के मामले में जुर्माने के साथ सजा का प्रावधान है।

पानी पाऊच करता बीमार

पानी पाऊच तो गले को तर कर रहा है। लेकिन बीमारी भी परोस रहा है। पानी पाऊच में निर्माण और एक्सपायरी तिथि अंकित नहीं होने की जानकारी पर विभाग के अधिकारियों ने हेम इंडस्ट्रीज में दबिश दी। यहां पर पाया कि जो पानी का पाऊच तैयार किया जा रहा था। उसमें यहीं से तिथि अंकित नहीं की जा रही थी। गर्मी में प्लास्टिक का पाऊच पानी के संपर्क में रहता है, और कुछ दिन बाद यह पानी सेहत के लिए हानिकारक हो जाता है।

इनका कहना है

साल भर के अंतराल में 12 खाद्य पदार्थ अमानक स्तर के पाए गए। जिसमें कुछ पदार्थों में मिलावटी सामग्री रही, तो कुछ में निर्माण और एक्सपायर तिथि का उल्लेख नहीं किया गया था। सभी मामलों को न्यायालय ले जाया गया। जिसमें कुछ में जुर्माना लगाया गया है। - डी.के.दुबे, खाद्य सुरक्षा अधिकारी

कमेंट करें
X9AL4