comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मंदबुद्धि बेटे से शादी करवाकर लूटता रहा बहू की इज्जत, गिरफ्तार

BhaskarHindi.com | Last Modified - May 16th, 2018 17:03 IST

6.7k
0
1
मंदबुद्धि बेटे से शादी करवाकर लूटता रहा बहू की इज्जत, गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, कामठी/कन्हान(नागपुर) । अपने मतिमंद बेटे की शादी करवाकर एक दुराचारी ससुर अपनी बहू  की इज्जत से खिलवाड़ करता रहा। दुराचारी पिछले दो साल से अपनी बेटी समान बहू का शारीरिक शोषण कर रहा था। बात जब हद से गुजर गई तब पीड़िता ने थाने में ससुर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। शिकायत पर पुलिस ने तत्काल ससुर को गिरफ्तार कर लिया।

बेटा मतिमंद होने की बात शादी तक छिपाए रखी 
कामगार नगर, रमा नगर कामठी निवासी रोहित मेश्राम का 1 मई 2016 को पीड़िता के साथ विवाह हुआ था। विवाह के समय रोहित के घरवालों ने पीड़िता से रोहित मतिमंद होने की बात छिपा रखी थी, जो पीड़िता को शादी के बाद पता चली। रोहित पूरी तरह से मतिमंद नहीं है। इसी बात की तसल्ली कर पीड़िता ने पति के घर में रहकर जिंदगी गुजराने का इरादा बना लिया, लेकिन उसे क्या पता था कि, उस पर बड़ी मुसीबत आने वाली है। बेटी के मतिमंद होने का फायदा ससुर राजदत्ता उर्फ राजू मेश्राम (55) ने उठाया। उसने अपनी बहू के साथ पहले जबरदस्ती की, जब बहू नहीं मानी तो उसे डराना धमकाना शुरू कर दिया और फिर आए दिन बहू से दुष्कर्म करने लगा। यह सिलसिला पिछले दो साल से जारी था।

तीन बार गर्भवती भी हुई 
इस बीच पीड़िता तीन बार गर्भवती भी हुई। ऐसा नहीं है कि, पीड़िता ने इसकी शिकायत अपनी सास से नहीं की। सास ने भी अपने पति की करतूतों का समर्थन किया। सास-ससुर दोनों ने मिलकर पीड़िता से कहा कि, गर्भवती होने के बाद यदि प्रसूति हो भी जाती है, तो हम समाज में इसे रोहित का बेटा ही कहकर पेश करेंगे, लेकिन इस बात के लिए पीड़िता राजी नहीं थी। अंतत: उसने मंगला भालाधरे नामक महिला को अपनी आपबीती सुनाई। यह सुनते ही मंगला के पैरों तले जमीन खिसक गई। उसने सोमवार को कामठी के नए पुलिस थाने में जाकर पुलिस को सारी बात बताई।

पीड़िता और मंगला की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच थाने की महिला पुलिस उपनिरीक्षक सोनाली मेश्राम को सौंपी। उन्होंने तुरंत मामले की छानबीन शुरू कर सोमवार देर रात आरोपी ससुर राजदत्त को गिरफ्तार कर थाने में लाया और उसके खिलाफ धारा 376 (2)(एन) के तहत मामला दर्ज किया है। मंगलवार को आरोपी ससुर को कोर्ट में पेश कर तीन दिन तक पीसीआर प्राप्त किया। यह कार्रवाई थानेदार बापू ढेरे के मार्गदर्शन में हेकां संजय गीते ने की।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर