comScore

मां सो रही थी, 'जल्लाद बाप' ने एक-एक कर चलती ट्रेन से फेंक दिया अपनी 3 बच्चियों को

October 25th, 2017 13:40 IST
मां सो रही थी, 'जल्लाद बाप' ने एक-एक कर चलती ट्रेन से फेंक दिया अपनी 3 बच्चियों को

डिजिटल डेस्क, पटना।  उत्तरप्रदेश के सीतापुर में एक दिल दहला देने वाला सामने आया है, जहां नशे में धुत में एक 'जल्लाद बाप' ने एक-एक करके अपनी 3 बेटियों को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। इसमें से 1 बच्ची की मौत हो गई, जबकि 2 की हालत गंभीर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि ट्रेन से बच्चियों को नीचे फेंकने में बच्चियों के पिता के भाई ने भी साथ दिया। ये घटना सीतापुर में जनसेवा एक्सप्रेस में उस वक्त हुई, जब इन बच्चियों की मां सो रही थी। फिलहाल इस मामले में अभी तक किसी भी गिरफ्तारी की कोई खबर नहीं आई है। 

एक-एक कर फेंका ट्रेन से नीचे

दरअसल, मामला एक दिन पुराना यानी मंगलवार का बताया जा रहा है। पंजाब के अमृतसर से बिहार के सहरसा जाने वाली जनसेवा एक्सप्रेस का ये मामला है। मंगलवार सुबह 7 बजे के करीब एक बच्ची घायल हालात में मिली, वहीं दोपहर 3 बजे के करीब दूसरी बच्ची की बॉडी पुलिस ने बरामद की। इसके बाद एक बच्ची से पूछताछ में ट्रेन से धक्का देने की बात पता चली और तीसरी बच्ची भी बेहोश हालात में मिली। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो होश में आने के बाद एक बच्ची ने इस पूरी घटना के बारे में बताया। बच्ची का कहना है कि उनके पिता ने उन्हें एक-एक ट्रेन से फेंका था, उस वक्त उनकी मां सो रही थी। वहीं ये बात भी सामने आ रही है कि इसमें बच्चियों के पिता के साथ और कोई शख्स भी था, जो बच्चियों का चाचा यानी उनके पिता का भाई बताया जा रहा है। हालांकि अभी तक पूरी तस्वीर पूरी तरह से साफ नहीं हो पाई है। तीनों बच्चियों अलग-अलग जगह से मिली हैं। 

पंजाब में मजदूरी करता है पिता

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बच्चियों के पिता का नाम इद्दू है और वो पंजाब में मजदूरी करता है। इद्दू मूल रूप से बिहार के मोतीहारी जिले के चोड़िया गांव का रहने वाला है। सोमवार देर रात इद्दू ने अपनी तीन बेटियों अल्बुल खातून (8), मुन्नी (6) और सलीमा (4) को ट्रेन से नीचे फेंक दिया। इद्दू अपनी इन तीन बेटियों और परिवार के साथ जनसेवा एक्सप्रेस से लुधियाना से बिहार जा रहा था। बताया जा रहा है कि तभी ये तीनों बच्चियां अपने पिता से किसी बात के लिए जिद करने लगी। इसके बाद नशे में धुत पिता ने इन तीनों को एक-एक कर चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया।

अलग-अलग जगह मिली तीनों मासूम

मंगलवार की सुबह रामकोट के भवानीपुर गांव के कुछ लोग जब टहलने निकले तो उन्हें अल्बुल पड़ी मिली और यहां से 3 किलोमीटर दूर सलीमा को भी झाड़ियों में पड़ा पाया गया। वहीं मुन्नी की डेड बॉडी रमईपुर हॉल्ट के पास मिली। इसके बाद दोनों बच्चियों को पुलिस ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। बताया जा रहा है कि ट्रेन से नीचे गिरने की वजह से सलीमा के सिर में गंभीर चोटें आई है, जबकि अल्बुल के लेफ्ट पैर में फ्रैक्चर हुआ है। 

पिता और चाचा ने फेंका बच्चियों को

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इन बच्चियों को उनके पिता और चाचा ने चलती ट्रेन से नीचे फेंका था। बच्चियों ने अपने पिता पर आरोप लगाया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सीओ योगेंद्र सिंह ने बताया कि घायल अल्बुल ने अपने पिता और चाचा पर ट्रेन से फेंकने का आरोप लगाया है। वहीं RPF कैंट के थाना प्रभारी धनंजय सिंह ने बताया कि अल्बुल ने अपने पिता इद्दू और चाचा इकबाल पर आरोप लगाया है। हालांकि सच्चाई क्या है, ये अब तक सामने नहीं आ सकी है, क्योंकि इस मामले में अभी तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है। 

आरोपियों को तलाश रही है पुलिस

वहीं मामला सामने आने के बाद पुलिस ने बच्चियों के बयान के आधार पर परिजनों की तलाश शुरू कर दी है। बच्चियों का कहना है कि उनके पिता और चाचा शराब के नशे में धुत थे और झगड़े के बाद दोनों ने मिलकर बच्चियों को नीचे फेंक दिया। पुलिस का कहना है कि वारदात बहुत बड़ी है और कानूनी पहलुओं को ध्यान में रखकर कार्रवाई की जा रही है। 

कमेंट करें
SEz6N