comScore

मतदान की सेल्फी वायरल करने पर मामला दर्ज

मतदान की सेल्फी वायरल करने पर मामला दर्ज

डिजिटल डेस्क, शहडोल। मतदान करते समय ईवीएम व बूथ के साथ सेल्फी लेकर उसे सोशल मीडिया में वायरल करना एक युवक को भारी पड़ गया। शिकायत के आधार पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। यह मामला ग्राम नंदना के बूथ क्रमांक 216 का है। पीठासीन अधिकारी बसंतलाल खैरवार ने सोहागपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई कि वोट डालने पहुंचे अमित तिवारी पिता मुकेश ने वोट डालते समय बूथ में सेल्फी खींची और उसे वायरल कर दिया। सेल्फी में स्पष्ट दिख रहा था कि उसने किसे वोट डाला है। प्रकरण के विवेचना अधिकारी एएसआई आरएस बागरी ने बताया कि बूथ तक मोबाइल लेकर जाना और फोटो खींचना निर्वाचन आयोग के निर्देशों की अवहेलना है। शिकायत के बाद अमित के विरुद्ध धारा 188 भादवि के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

स्ट्रांग रूम में ईवीएम, तीन लेयर की सुरक्षा 
मतदान के बाद  सभी ईवीएम (बैलेट यूनिट, कन्ट्रोल यूनिट, वीवीपैट) को स्थानीय पॉलीटेक्निक कॉलेज में बनाए गए स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रखी गई है। यहां जिले की तीनों विधानसभा सीटों के लिए अलग-अलग स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। साथ ही इतनी कड़ी सुरक्षा की गई है कि यहां परिंदा भी पर नहीं मार सकता है। अब मतगणना की तिथि यानि 23 मई तक ईवीएम को कड़ी सुरक्षा में रखा जाएगा। तीनों स्ट्रांग रूम की सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ की एक कंपनी तैनात की गई है, जिसमें हथियारों से लैस 70 से 80 जवान हैं। इसके लिए स्थानीय पुलिस की एसएएफ की बटालियन की ड्यूटी भी यहां लगाई गई है। सुरक्षा प्रभारी डीएसपी हेडक्वार्टर को बनाया गया है। स्ट्रांग रूम की सुरक्षा तीन लेयर (चक्र) में की जा रही है। स्ट्रांग रूम, आउटर लेयर और इनर लेयर। यानि स्ट्रांग रूम के बाहर सुरक्षा बल 24 घंटे तैनात रहेगा। वहीं स्ट्रांग के बाहर परिसर में एक टुकड़ी मुस्तैद रहेगी। जबकि कॉलेज की बाउंड्रीवाल के बाहर एक सुरक्षा घेरा तैयार किया गया है। किसी को भी अंदर जाने की अनुमति नहीं है।

सीसीटीवी फुटेज देख सकते हैं प्रतिनिधि
स्ट्रांग रूम में ईवीएम से किसी तरह की छेड़छाड़ तो नहीं की जा रही है, इसलिए स्ट्रांग रूम में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिसका फुटेज देखने के लिए पॉलिटेक्निक परिसर में ही डीवीआर स्थापित किया गया है। स्ट्रांग रूम से 100 मीटर के दूरी पर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के बैठने की व्यवस्था भी की गई है। यहां अभ्यर्थी स्वयं, अपने किसी प्रतिनिधि या एजेंट को बैठा सकते हैं। इसके लिए राजनीतिक दलों को आवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि अभी तक किसी भी राजनीतिक दल ने आवेदन नहीं दिया है।

कमेंट करें
BJ345