comScore
Election 2019

17 मार्च को है इस वर्ष का पहला रवि-पुष्य संयोग, ये उपाय है फलदायी

March 14th, 2019 15:49 IST
17 मार्च को है इस वर्ष का पहला रवि-पुष्य संयोग, ये उपाय है फलदायी

डिजिटल डेसक, नई दिल्ली। पुष्य नक्षत्र जब रविवार के दिन होता है तब इसे रवि-पुष्य संयोग के नाम से जाना जाता है। यह सभी कार्यों के लिए शुभ व श्रेष्ठ मुहूर्त होता है। 2019 में पहला रवि पुष्य शुभ संयोग 17 मार्च 2019 को बन रहा है। रवि पुष्य नक्षत्र में एकाक्षी नारियल का अचूक उपाय फलदायी होता है। रवि-पुष्य नक्षत्र के दिन एकाक्षी नारियल, नारियल का एक प्रकार है, लेकिन इसका प्रयोग अधिकांश रूप से तंत्र प्रयोगों में किया जाता है। 

इसके ऊपर आंख के समान एक चिह्न होता है। इसलिए इसे एकाक्षी (एक आंख वाला) नारियल कहा जाता है। इसे धन स्थान पर रखा जाता है। इसे साक्षात लक्ष्मी का स्वरूप भी माना गया है। रविपुष्य संयोग के दिन यदि इसे विधि-विधान से घर में स्थापित कर लिया जाए तो उस जातक के घर में धन की कमी कभी नहीं रहती है।

एकाक्षी नारियल के टोटके और मंत्र :-
सबसे पहले इस दिन स्नान कर शुद्ध वस्त्र धारण करें फिर अपने सामने थाली में चंदन या कुंकुम से अष्ट दल बनाकर उस पर इस नारियल को रख दें और अगरबत्ती व शुद्ध घी का दीपक लगा दें।

शुद्ध जल से स्नान कराकर इस एकाक्षी नारियल को पुष्प, चावल, फल, प्रसाद आदि अर्पित करें। लाल रेशमी वस्त्र अर्पित करें। इसके बाद आधा मीटर लंबा रेशमी वस्त्र बिछाकर उस पर केसर से यह मंत्र लिखें -

मंत्र-
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं महालक्ष्मीं स्वरूपाय एकाक्षिनालिकेराय नम: सर्वसिद्धि कुरु कुरु स्वाहा।

फिर रेशमी वस्त्र पर नारियल को रख दें और यह मंत्र जपते हुए उस पर 108 गुलाब की पंखुडियां चढ़ाएं। प्रत्येक पखुंड़ी चढ़ाते समय इस मंत्र का जप करते रहें।

मंत्र-
ॐ ऐं ह्रीं श्रीं एकाक्षिनालिकेराय नम:।

इसके बाद गुलाब की पंखुडियां हटाकर उस रेशमी वस्त्र में नारियल को लपेटकर थाली में चावलों की ढेरी पर रख दें और इस मंत्र का जाप करें।

मंत्र-
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं ऐं एकाक्षाय श्रीफलाय भगवते विश्वरूपाय सर्वयोगेश्वराय त्रैलोक्यनाथाय सर्वकार्य प्रदाय नम:।

फिर अगले दिन से दीपावली आने तक प्रतिदिन 21 गुलाब से पूजा करें और उस रेशमी वस्त्र में लिपटे हुए नारियल को पूजा स्थान पर ही रखा रहने दें। इस प्रकार एकाक्षी नारियल को अपने घर या कार्यालय में स्थापित करने से स्थिर धन लाभ होता है और जीवन में धन की कमी कभी नहीं रहती है।

Loading...
कमेंट करें
hdFDs
Loading...