comScore
Dainik Bhaskar Hindi

5 लाख का ईनामी गैंगस्टर आनंदपाल मारा गया, डेढ़ साल से था फरार

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 13:01 IST

1.2k
0
0
5 लाख का ईनामी गैंगस्टर आनंदपाल मारा गया, डेढ़ साल से था फरार

टीम डिजिटल, जयपुर. राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर आनंद पाल को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया। पाल पर पांच लाख रुपए का ईनाम था। गैंगस्टर करीब डेढ़ साल से फरार चल रहा था। पूरी कार्रवाई शनिवार रात 11:25 बजे एसओजी ने चूरू के मालासर में एनकाउंटर के दौरान उसे मार गिराया। मुठभेड़ के दौरान आनंदपाल और उसके दो साथियों ने एके 47 समेत अन्य हथियारों से 100 राउंड फायर किए। उस दौरान आनंदपाल को 6 गोलियां लगी।साथ ही उसके 2 साथियों को गिरफ्तार किया गया हैं।

कोर्ट ले जाते वक्त हुआ था फरार
गौरतलब है कि आनंद पाल पिछले वर्ष अजमेर जेल से कोर्ट ले जाते वक्त मशीनगन चला कर फरार हो गया था। उसकी तलाश के लिए पांच सौ से ज्यादा पुलिस कर्मियों का दल बनाया गया था।

एके 47 से की फायरिंग
पुलिस ने देवेंद्र और गट्टू नामक दो शख्स को गिरफ्तार भी किया है। इस मुठभेड़ में सोहन सिंह समेत दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। आनंद पाल ने एके 47 से करीब सौ फायर किए थे। इसके बाद पुलिस की ओर से भी जवाबी फायरिंग की गई और आनंद पाल मारा गया।

फेसबुक पर भी एक्टिव था आनंदपाल
आनंदपाल फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने फैन्स के लिए एक सोशल पेज भी चलाता था। वो अपने समाज से जुड़ी समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों की कतरन अपने फैंन्स को पोस्ट करता था। फैन फॉलोविंग हजारों भी में है। फेसबुक पर आनंदपाल सिंह के नाम से ही प्रोफाइल है जिसमें उसका फोटो इस्तेमाल किया गया है।

डी डॉन अनुराधा चौधरी से था खास संपर्क
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,आनंदपाल के गैंग की सदस्य रही अनुराधा चौधरी फिलहाल जेल में है। अनुराधा उर्फ अनुराग सीकर में रानी सती रोड की मूल निवासी है। 33 साल की इस लेडी डॉन की शादी सीकर के ही दीपक मिंज नाम के व्यक्ति के साथ हो चुकी है। वो शेयर बाजार में काम करती थी। नुकसान होने के बाद उसने गैंगस्टर आनंदपाल से संपर्क बढ़ाया। धीरे-धीरे वह गैंग की अहम सदस्य बन गई।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download