comScore
Dainik Bhaskar Hindi

फिक्स था उपवास, सीएम शिवराज पर आरोप

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:27 IST

1.2k
0
0
फिक्स था उपवास, सीएम शिवराज पर आरोप

टीम डिजिटल,भोपाल. किसान आंदोलन और लगातार हो रही किसानों की ख़ुदकुशी के बाद एक बार फिर से मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रहीं है. अब कहा जा रहा है कि 10 से 12 जून तक चला शिवराज सिंह चौहान का उपवास महज छलावा था. उनका उपवास पहले से ही फिक्स था. एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए मृतक के परिजनों ने बताया कि उनसे ऐसा कहा गया कि परिवारजन उनका उपवास तुड़वाने के ली आये हैं, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं था. उन्हें किसी से कुछ भी कहने के लिए मना किया गया था. ऐसे में एक बार फिर से शिवराज सिंह चौहान का उपवास सवालों के घेरे में आ गया है. सीएम पर उपवास फिक्स होने के आरोप हैं.

10 जून को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल के दशहरा मैदान में उपवास पर बैठे थे. शुरूआती तैयारी देख लग यही रहा था कि उपवास लंबा चलेगा,लेकिन अगले ही दिन 28 घंटे बाद उन्होंने अपना उपवास खत्म कर दिया.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा की उपवास खत्म करने के लिए फायरिंग में मारे गए किसानों के परिवारों ने अपील की है. तब बीजेपी नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी ने जूस पिलाकर शिवराज का उपवास तोड़ा. उसी मंच से शिवराज ने ये एलान किया कि मंदसौर फायरिंग में मारे गए किसानों के परिवारवालों ने उनसे उपवास तोड़ने के लिए कहा.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था, ‘मैं अभिभूत हूं. कल जब मैंने वो दृश्य देखा, जिस परिवार के बच्चों की मृत्यु हई, वो परिवार वाले मेरे पास आए और उन्होंने द्रवित होकर कहा कि ठीक है चले गए हमारे बेटे तो इतना जरूर कर देना कि जो अपराधी हैं उनको सजा मिल जाए लेकिन तुम उपवास से उठ जाओ, तुम हमारे गांव आओ.’

लेकिन अब खुलासा हुआ है कि ये सब कुछ स्क्रिप्टड था. शिवराज ने उपवास को मास्टरस्ट्रोक की तरह खेला था. शिवराज का उपवास तुड़वाने के लिए गोलीकांड में मारे गए किसानों के परिजन शिवराज के पास खुद नहीं गए बल्कि उन्हें एक सोची समझी योजना के तहत भोपाल लाया गया.

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download